शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

ज्यादा ईंधन बिल दिखाकर जेट एयरवेज ने की हेराफेरी, SFIO ने भी शुरू की जांच

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला Updated Mon, 15 Jul 2019 03:16 PM IST
बंद हो चुकी जेट एयरवेज के प्रबंधकों द्वारा किए वित्तीय घपलों की एक-एक कड़ी अब सामने निकल के आ रही है। कंपनी के प्रबंधकों ने घाटे के बावजूद अनुचित तरीकों का पालन करके फंड को दूसरी कंपनी में डायवर्ट किया। इसके अलावा ईंधन और जेपी माइल्स के लिए फ्रॉड तरीकों से बिलों को जेनरेट किया गया। अब एसबीआई के अलावा एसएफआईओ ने भी अपनी जांच को शुरू कर दिया है। 

एसबीआई ने शुरू करवाया फोरेंसिक ऑडिट

भारतीय स्टेट बैंक ने कंपनी के खिलाफ फोरेंसिक ऑडिट को शुरू कर दिया है। जांच में पता चला है कि कंपनी ने बिलों को बढ़ाचढ़ा कर बनवाया। इसमें ईंधन के बिल भी शामिल हैं, जिनका भुगतान करने से पहले किसी भी स्तर उनको वैरिफाई नहीं किया गया। 

जेट लाइट को दिया गया 3353 करोड़ का लोन

फोरेंसिक ऑडिट कर रही ईवाई ने अपनी जांच में पाया कि जेट एयरवेज ने घाटे में रहने के बावजूद चार सालों के लिए अपनी सहयोगी कंपनी जेट लाइट को 3353 करोड़ रुपये का लोन देने का प्रोविजन कर दिया। हालांकि इसके लिए कंपनी ने बोर्ड के साथ ही शेयरहोल्डर से भी इसके लिए किसी तरह की कोई मंजूरी नहीं ली। 2015 से ही जेट को घाटा होने लगा था और उसके मुनाफे में भी कमी आ रही थी। 

SFIO भी कर रही है जांच

कॉर्पोरेट मामलों के मंत्रालय ने भी जेट एयरवेज के खिलाफ एसएफआईओ से जांच शुरू करवा दी है। जेट एयरवेज पर कुल 25 हजार करोड़ रुपये की देनदारी है, जिसमें से 8500 करोड़ रुपये केवल बैंकों पर बकाया है। कंपनी के प्रबंधकों ने अपनी मर्जी से इसे चलाया, जिसके कारण ही इतनी वित्तीय घपलेबाजी देखने को मिली है। 

कहां गया पैसा यह जानना है जरूरी

एसबीआई सहित सरकार भी यह जानना चाहती है कि आखिर पैसे का इस्तेमाल कहां पर किया गया। इसलिए जांच के बाद ही बैंक और सरकार इस बात का फैसला लेंगे कि क्या नरेश गोयल और उनकी पत्नी अनिता वित्तीय अपराध करने का मुकदमा दर्ज किया जा सकता है या फिर नहीं। गौरतलब है कि नरेश गोयल और उनकी पत्नी के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी है, जिसके बाद वो देश छोड़कर नहीं जा सकते हैं। 
विज्ञापन

Recommended

jet airways sfio financial probe sbi jet lite shareholders जेट एयरवेज एसएफआईओ वित्तीय जांच एसबीआई जेट लाइट शेयरहोल्डर्स

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Recommended Videos

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।