विज्ञापन
विज्ञापन

रूस के साथ एस-400 समझौता रद्द करे भारत, नहीं तो करना पड़ेगा प्रतिबंधो का सामना: अमेरिका

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला Updated Sat, 22 Jun 2019 10:08 AM IST
प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर - फोटो : File Photo
ख़बर सुनें
अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो की अगले हफ्ते होने वाली भारत यात्रा से पहले वाशिंगटन ने एस-400 मिसाइल समझौते को लेकर एक बार फिर भारत को चेतावनी दी है। वाशिंगटन ने भारत से कहा है कि रूस के साथ इस समझौते को रद्द किया जाए, नहीं तो फिर काटसा प्रतिबंधों के लिए तैयार रहें।
विज्ञापन
ये बात विदेश विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने शुक्रवार को हुई कान्फ्रेंस में कही है। साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि अमेरिका विकल्पों को देखने के लिए भारत को प्रोत्साहित करेगा।

बता दें एस-400 रक्षा प्रणाली सौदे के बाद अमेरिका भारत पर प्रतिबंध लगा सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि अमेरिकी कांग्रेस ने रूस से हथियारों की खरीद को रोकने के लिए काउंटरिंग अमेरिकाज एडवर्सरीज थ्रू सेंक्शंस एक्ट (सीएएटीएसए) यानी काटसा कानून बनाया था। इसी कानून के तहत अमेरिका प्रतिबंध लगा सकता है। 

अधिकारी ने पोम्पियो के 25-27 जून तक विभिन्न देशों के दौरों का ब्योरा दिया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की दूसरी बार सरकार बनने के बाद ये अमेरिका के ट्रंप प्रशासन की ओर से पहला दौरा है। पोम्पियो भारत के अलावा श्रीलंका की यात्रा पर भी जाएंगे। इसके बाद वह दक्षिण कोरिया की यात्रा पर जाएंगे। फिर वह ओसाका में जी 20 सम्मेलन में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ शिरकत करेंगे।

एस-400 समझौते पर एक सवाल पूछे जाने पर अधिकारी ने कहा कि अमेरिका भारत से आग्रह करता है कि वह रूस के साथ लेनदेन को त्याग दे क्योंकि इससे काटसा का उल्लंघन होने का रिस्क है। अधिकारी ने कहा कि ट्रंप प्रशासन ने भारत के साथ रक्षा अनुसंधान की गुणवत्ता और मात्रा के साथ सैन्य क्षमता को बढ़ाने के लिए कई कदम उठाए हैं।

भारत के साथ अमेरिका के रक्षा समझौते पर बोलते हुए अधिकारी ने कहा कि अमेरिका ने भारत को सशस्त्र यूएवी सी गार्जियन की पेशकश भी की, जिससे देश उस उच्च तकनीक वाला पहला गैर-संधि साझेदार बना। अधिकारी ने यह भी कहा कि अमेरिका ने सितंबर 2019 में टू प्लस टू बैठक के दौरान भी घोषणा की थी कि अमेरिका ने इस प्रक्रिया को आसान किया है और भारत को सामरिक व्यापार प्राधिकरण टियर -1 का दर्जा दिया है। जो नाटो के सदस्यों की तरह ही लाभ देगा।

अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो इस महीने भारत दौरे पर आएंगे। इस दौरान वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री एस. जयशंकर से मुलाकात करेंगे। ट्रंप प्रशासन ने भारत पर वेनेजुएला और ईरान से तेल ना खरीदने का दबाव बनाया है, तब से दोनों देशों के बीच व्यापार को लेकर चिंता थोड़ी बढ़ गई है।

भारत पर मानदंडों को ठीक से ना मानने का आरोप लगाते हुए ट्रंप प्रशासन ने भारत को विशेष तरजीह वाले राष्ट्रों यानी जीएसपी की सूची से भी बाहर कर दिया है। ऐसे में पोम्पियो की ये यात्रा काफी अहम मानी जा रही है।
विज्ञापन

Recommended

शेयर मार्केट, अब नहीं रहेगा गुत्थी
Invertis university

शेयर मार्केट, अब नहीं रहेगा गुत्थी

समस्या कैसी भी हो, पाएं इसका अचूक समाधान प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्यों से केवल 99 रुपये में
Astrology Services

समस्या कैसी भी हो, पाएं इसका अचूक समाधान प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्यों से केवल 99 रुपये में

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

World

क्या है यूएई का ‘ऑर्डर ऑफ जायद’ सम्मान, अब तक किस-किस नेता को किया जा चुका है सम्मानित

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भारत और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के बीच द्विपक्षीय संबंधों को बढ़ावा देने के उनके प्रयासों के लिये शनिवार को उन्हें देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘ऑर्डर ऑफ जायद’ से सम्मानित किया गया।

24 अगस्त 2019

विज्ञापन

बांद्रा स्टेशन पहुंचे शाहरुख खान, फेवरेट स्टार को देखने के लिए फैंस की लग गई भीड़

शाहरुख खान एक खास मौके पर पहुंचे बांद्रा रेलवे स्टेशन। दरअसल, बांद्रा रेलवे स्टेशन का 132वां जन्मदिन का मौका था जहां किंग खान को देखने के लिए हजारों फैंस की भीड़ जमा हो गई।

24 अगस्त 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree