लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   World ›   Taliban announces to build air force in Afghanistan

अफगानिस्तान: तालिबान का देश में एयरफोर्स बनाने का एलान, हाथ में हैं अमेरिका से मिले हथियार

एजेंसी, काबुल। Published by: Jeet Kumar Updated Mon, 08 Nov 2021 03:50 AM IST
सार

तालिबान के रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता इनायतुल्लाह ख्वारिज्मी ने कहा कि जिन विमानों को थोड़ी बहुत मरम्मत की आवश्यकता थी, उन्हें ठीक कर दिया गया है। साथ ही ऐसे कर्मी जो अहम पदों पर थे, उन्हें दोबारा शामिल करने की कोशिश की जा रही है।

तालिबान  (फाइल)
तालिबान (फाइल) - फोटो : पीटीआई
विज्ञापन

विस्तार

काबुल पर कब्जा करने के बाद अब तालिबान ने एलान किया है कि देश में खुद का एयरफोर्स होना अनिवार्य है। ऐसे मेंअब तालिबान ने देश में खुद का एयरफोर्स बनाने का फैसला किया है। देश में सत्ता संभालने के दो महीने के बाद तालिबान ने देश में वायुसेना बनाने और उसे मजबूत करने की बात कही है। 



बीते मंगलवार को राजधानी काबुल में आईएसआईएस के आतंकियों ने सरदार दाऊद खान अस्पताल पर बड़ा हमला किया था। इसमें कम से कम 23 लोगों की मौत हो गई थी। इस हमले में तालिबान की तरफ से अस्पतालों की सुरक्षा के लिए तैनात यूएस ब्लैक हॉक समेत तीन हेलीकॉप्टरों ने काफी अहम भूमिका निभाई थी और आईएसआईएस आतंकियों को खत्म कर दिया था।


इसके बाद तालिबान ने अब कहा है कि, देश में एयरफोर्स को काफी मजबूत किया जाएगा, ताकि देश की सुरक्षा व्यवस्था को मजबूत बनाया जाए। तालिबान की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि, हम पिछली सरकार की वायुसेना में जो सैनिक थे, उनका इस्तेमाल करने की कोशिश कर रहे हैं और हम सुनिश्चित करना चाहते हैं कि वे सभी हमारे पास वापस आ जाएं। 

बता दें कि तालिबान के काबुल के राष्ट्रपति भवन में घुसने से कुछ दिन पहले कंधार वायुसेना को जब्त कर लिया था और अमेरिकी एमआई-17 को भी तालिबान ने अपने कब्जे में ले लिया था। जिसकी तस्वीर भी तालिबान की ओर से जारी की गई थी।

तालिबान का फरमान, टैक्सी चालक हमारे अलावा अन्य किसी हथियारबंद व्यक्ति को न बिठाएं
तालिबान ने पूर्वी नांगरहार प्रांत के टैक्सी चालकों को आदेश दिया है कि वे तालिबान से जुड़े लोगों के अलावा किसी अन्य हथियारबंद व्यक्ति को अपनी टैक्सी में न बिठाएं। विशेष बात यह है कि तालिबान या उससे जुड़े किसी संगठन पर यह आदेश लागू नहीं होगा। यानी तालिबान या उनके सहयोगी हथियार लेकर किसी भी टैक्सी में बैठ सकेंगे। जानकारी के मुताबिक, यह आदेश आईएसआईएस के आतंकियों पर रोक लगाने के इरादे से जारी किया गया है। इस राज्य को आईएस का गढ़ माना जाता है।

नांगरहार में तालिबान के ऑफिस की तरफ से जारी बयान में कहा गया- राज्य में सुरक्षा को और सख्त किए जाने की जरूरत है। लिहाजा, टैक्सी चालकों को यह आदेश दिया जाता है कि वे किसी भी हथियारबंद व्यक्ति को अपनी गाड़ी में न बैठने दें। अगर वो व्यक्ति तालिबान या उसके किसी संगठन का है तो केवल उसे ही बिठाएं। टैक्सी चालकों से ये भी कहा गया है कि अगर वे किसी संदिग्ध व्यक्ति को देखते हैं, या किसी गैर तालिबानी को हथियारों के साथ देखते हैं तो इसकी सूचना जरूर दें।

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00