लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   World ›   Study reveals: If there is a problem of sleeplessness, then diabetes is possible, 28 percent of people get symptoms of high blood sugar

अध्ययन से खुलासा : नींद न आने की समस्या है तो डायबिटीज संभव, 28 फीसदी लोगों में उच्च ब्लड शुगर के लक्षण मिले

अमर उजाला रिसर्च टीम, नई दिल्ली।  Published by: योगेश साहू Updated Sun, 10 Apr 2022 04:50 AM IST
सार

शोध के दौरान जिन लोगों ने अनिद्रा के लिए जीवनशैली में तब्दीलियां, योग और ध्यान जैसे उपाय किए या सही औषधियां लीं, उनमें यह स्तर कम होता चला गया। शोधकर्ताओं के मुताबिक, इसका मतलब है कि हजारों-लाखों लोग अनिद्रा से निजात पाकर डायबिटीज के खतरे को दूर कर सकते हैं। 

प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर - फोटो : Pixabay
विज्ञापन

विस्तार

अगर आपकी भी रातें सिर्फ करवटें बदलते कटती हैं और चैन की नींद नहीं आती तो फौरन संभल जाएं, क्योंकि इसके चलते आप डायबिटीज के शिकार बन सकते हैं। अनिद्रा के रोगियों को चेताने वाली यह जानकारी एक ताजा ब्रिटिश शोध में सामने आई है, जिसमें नींद और टाइप-2 डायबिटीज के बीच गहन संबंध तलाशा गया है। ब्रिस्टल यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने अध्ययन में पाया कि जो लोग रातों में नींद के लिए संघर्ष कर रहे थे, उनमें ब्लड शुगर का स्तर बहुत ज्यादा मिला। 



शोध के लिए वैज्ञानिकों ने सबसे पहले 3,36,999 ब्रिटिश वयस्कों की नींद के पैटर्न और ब्लड शुगर के स्तर का डाटा जुटाया। इसके बाद इनमें से अनिद्रा के शिकार लोगों की गहन पड़ताल की गई। इस दौरान हर रात उनके सोने के घंटे, दिनभर में हुई थकान का स्तर, झपकी लेने की आदत, सुबह-शाम की दिनचर्या और ब्लड शुगर के औसत स्तर का विश्लेषण किया गया।


अनिद्रा की शिकायत टाइप-2 डायबिटीज के लिए जिम्मेदार
फिर नतीजों में सामने आया कि जिन प्रतिभागियों ने सोने में तकलीफ और अनिद्रा की तकलीफ बताई, उनका ब्लड शुगर तुलनात्मक रूप से बहुत ज्यादा था। शोध में शामिल कुल वयस्कों में से इनकी तादाद 28% थी।

  • शोधकर्ताओं के मुताबिक, यह परिणाम खराब नींद और टाइप-2 डायबिटीज के जोखिम के प्रभाव को लेकर समझ बढ़ाने में मददगार हो सकता है।
  • इससे पहले भी दर्जनों शोध खराब नींद लेने वालों में टाइप-2 डायबिटीज के जोखिम का खुलासा कर चुके हैं। 
  • डायबिटीज केयर में प्रकाशित ताजा अध्ययन में पहली दफा अनिद्रा के कारण ब्लड शुगर का स्तर काफी बढ़ जाने की स्थिति को व्यापक ढंग से समझाया गया है। साथ ही टाइप-2 डायबिटीज में इसकी सीधी भूमिका स्थापित की गई है।

जीवनशैली में तब्दीली, योग-ध्यान से ठीक हुए लोग
शोध के दौरान जिन लोगों ने अनिद्रा के लिए जीवनशैली में तब्दीलियां, योग और ध्यान जैसे उपाय किए या सही औषधियां लीं, उनमें यह स्तर कम होता चला गया। शोधकर्ताओं के मुताबिक, इसका मतलब है कि हजारों-लाखों लोग अनिद्रा से निजात पाकर डायबिटीज के खतरे को दूर कर सकते हैं। 

विज्ञापन
  • आंकड़ों के अनुसार, अकेले ब्रिटेन में 47 लाख और अमेरिका में 3.7 करोड़ लोग डायबिटीज से पीड़ित हैं और भारत में अनुमानित तौर पर सात करोड़ से ज्यादा वयस्क इसके शिकार हैं।

विशेषज्ञों ने बताए, अनिद्रा भगाने के पांच उपाय

  1. एक निर्धारित समय पर सोना-जागना चाहिए।
  2. देर रात भोजन से बचना चाहिए।
  3. दिन में नियमित व्यायाम करें।
  4. अगर समस्या गहरी है तो कॉग्निटिव बिहेवियर थैरेपी का सहारा ले सकते हैं।
  5. लंबे समय से अनिद्रा के शिकार हैं तो डॉक्टरी परामर्श से दवा लें।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00