लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   World ›   Russian President Vladimir Putin may prolong war with Ukraine but not use nuclear weapons

President Putin: लंबा खिंच सकता है यूक्रेन युद्ध, परमाणु युद्ध का खतरा नहीं, पश्चिमी देशों को पुतिन की चेतावनी

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला, कीव/लंदन Published by: वीरेंद्र शर्मा Updated Fri, 09 Dec 2022 12:31 AM IST
सार

जर्मनी के चांसलर ओलाफ शोल्त्ज ने एक साक्षात्कार में कहा था कि अंतरराष्ट्रीय दबाव की प्रतिक्रिया में पुतिन के परमाणु हथियारों का इस्तेमाल करने का खतरा कम हो गया है।

व्लादिमीर पुतिन
व्लादिमीर पुतिन - फोटो : एएनआई
विज्ञापन

विस्तार

रूस-यूक्रेन युद्ध को लेकर रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने स्वीकार किया कि उनकी सेना यूक्रेन में लंबे समय तक लड़ सकती है। उन्होंने युद्ध की अवधि के बारे में कहा, अभी यह कुछ समय और जारी रह सकता है। यह एक लंबी प्रक्रिया हो सकती है। पुतिन ने अपनी टिप्पणी में यह भी दोहराया कि परमाणु युद्ध का खतरा बढ़ गया है लेकिन रूस लापरवाही जैसे हथियारों के इस्तेमाल का खतरा पैदा नहीं करेगा।


पुतिन ने कहा, हम पागल नहीं हुए हैं, हमें एहसास है कि परमाणु हथियार क्या होते हैं। हमारे पास ये साधन किसी भी अन्य परमाणु देश की तुलना में अधिक उन्नत और आधुनिक रूप में हैं, लेकिन हम इस हथियार को रेजर की तरह लहराते हुए दुनिया भर में नहीं दौड़ने वाले हैं। इससे पहले जर्मनी के चांसलर ओलाफ शोल्त्ज ने एक साक्षात्कार में कहा था कि अंतरराष्ट्रीय दबाव की प्रतिक्रिया में पुतिन के परमाणु हथियारों का इस्तेमाल करने का खतरा कम हो गया है। पुतिन ने कहा, इस समय यूक्रेन में डेढ़ लाख पूर्णकालिक सैनिक तैनात हैं जिनमें से 77 हजार हमलावर दस्ते के जवान हैं। पुतिन ने यह बात टेलीविजन पर देश को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि पश्चिमी देश रूस के खिलाफ हर तरह का अभियान छेड़े हुए हैं। इसी के तहत वे रूस में मानवाधिकारों के हनन का दुष्प्रचार कर रहे हैं। सारे अभियान पर हमारा एक जवाब है कि रूस अपने राष्ट्रीय हितों के साथ समझौता नहीं करेगा। अपने राष्ट्रीय हितों की रक्षा के लिए हम किसी भी सीमा तक जाएंगे।


ड्रोन, मिसाइल आपूर्ति के लिए ईरान की मदद लेगा रूस : अमेरिका
यूक्रेन में युद्ध के लिए हथियारों की आपूर्ति बनाए रखने में संघर्ष कर रहा मॉस्को अब रूसी सेना को ड्रोन विमानों और सतह से सतह पर मार करने वाली मिसाइलों की आपूर्ति के लिए एक बार फिर ईरान का रुख कर सकता है। घटनाक्रम से वाकिफ दो अमेरिकी अधिकारियों ने यह जानकारी दी। राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के अधिकारियों ने नाम न जाहिर करने की शर्त पर बताया कि अमेरिका इस बात को लेकर चिंतित है कि रूस आने वाले दिनों में ईरान से उन्नत पारंपरिक हथियार हासिल कर सकता है। रूसी सेना ईरान से सतह पर सतह पर मार करने वाली मिसाइलें खरीद कर सकती है। इस बीच, संयुक्त राष्ट्र के एक राजनयिक ने कहा कि ईरान ने सुरक्षा परिषद के वर्ष 2015 के प्रस्ताव का उल्लंघन करते हुए रूस को सैकड़ों मिसाइलें और ड्रोन विमान बेचने की योजना बनाई है।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00