Hindi News ›   World ›   Russia Ukraine War, Zelensky Warned Putin, Russia will feel weight of every bomb

Russia-Ukraine War: 'रूस हर उस बम का भार महसूस करेगा जिसे उसने यूक्रेन पर गिराया', जेलेंस्की की पुतिन को चेतावनी

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला, कीव/मॉस्को/वाशिंगटन Published by: संजीव कुमार झा Updated Sat, 21 May 2022 07:50 AM IST
सार

यूक्रेन में हजारों लोगों की मौत और भारी तबाही के बावजूद रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की तरफ से अब तक ऐसा कोई संकेत नहीं आया है जिससे लग सके कि अब युद्ध समाप्त हो जाएगा। वहीं यूक्रेनी राष्ट्रपति जेलेंस्की भी झुकने के लिए तैयार नहीं हैं।

पुतिन और यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की
पुतिन और यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की - फोटो : Amar ujala
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

रूस-यूक्रेन युद्ध के तीन महीने पूरे होने में अब मात्र तीन दिन रह गए हैं। इतने लंबे समय के संघर्ष के बावजूद दोनों देशों में कोई भी झुकने के लिए तैयार नहीं है। हालांकि, इस युद्ध में यूक्रेन को काफी नुकसान पहुंचा है। रूसी सेना ने यूक्रेन के पूर्वी हिस्से को बड़े पैमाने पर घेर लिया गया है औक एक-एक कर कई शहरों पर कब्जा करने की कोशिश में लगा है। वहीं राष्ट्रपति जेलेंस्की के लिए उस समय बुरी खबर आई जब मारियूपोल में यूक्रेन का आखिरी किला भी ढह गया और 1000 से अधिक यूक्रेनी सैनिकों ने पुतिन की सेना के सामने सरेंडर कर दिया। वहीं भारी नुकसान झेलने के बाद अब जेलेंस्की ने रूस से मुआवजे की मांग कर दी है। साथ ही जेलेंस्की ने रूसी राष्ट्रपति पुतिन को चेतावनी देते हुए कहा कि रूस हर उस बम का भार महसूस करेगा जिसे उसने यूक्रेन पर गिराया है। आइए 10 प्वॉइंट्स में जानते हैं रूस-यूक्रेन युद्ध में अभी क्या चल रहा है...




 

  • इस युद्ध में यूक्रेन को अब तक लगभग 8000 करोड़
  • रुपये का नुकसान हुआ है।
  • लगभग 1 करोड़ 40 लाख लोगों ने यूक्रेन छोड़कर पड़ोसी देश में शरण लिया है।
  •  रूसी सेना ने दावा किया कि मारियूपोल में यूक्रेनी सैनिकों की आखिरी पकड़ अजोवस्टल स्टील वर्क्स पर पूर्ण नियंत्रण कर लिया है।
  • सात प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं के समूह ने इस साल युद्धग्रस्त देश यूक्रेन को करीब 20 अरब डॉलर की सहायता देने का वादा किया है।
  • रूस ने यूक्रेनी बंदरगाहों पर एक तरह से कब्जा कर लिया है। इससे दुनियाभर में भोजन की कमी की आशंका बढ़ती जा रही है।
  • फिनलैंड का कहना है कि रूस ने प्राकृतिक गैस की आपूर्ति को निलंबित कर दिया है।
  • रूसी सैनिकों ने यूक्रेन एक नदी के किनारे के शहर पर बमबारी की, जहां कुछ अलगाववादी भी साथ दे रहे हैं।
  • बर्लिन में रक्षा मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने कहा कि जर्मनी जुलाई में यूक्रेन को पहले 15 गेपर्ड टैंक वितरित करेगा।
  • रूस ने दावा किया है कि कई दुश्मन देशों द्वारा रूस पर साइबर हमलों की संख्या कई गुना बढ़ गई है।
  • रूसी रक्षा मंत्रालय ने निर्णय लिया है कि वह 40 से अधिक उम्र को सेना में भर्ती करेगा।

पड़ोसी देशों ने बढ़ाया रूस पर दबाव
पड़ोसी देश फिनलैंड और स्वीडन अमेरिका के नेतृत्व वाले सैन्य संगठन नाटो में शामिल होने के लिए आवेदन कर दिया है। ऐसे में रूस खुद पर दबाव महसूस करने लगा है। रूस ने फिनलैंड से लगने वाली पश्चिमी सीमा पर सैनिकों और हथियारों की तैनाती बढ़ाने का फैसला किया है।  

रूस ने यूक्रेन में की नई पीढ़ी के शक्तिशाली लेजर हथियारों की तैनाती
मैरियूपोल पर कब्जे के बाद रूस ने यूक्रेन में नई पीढ़ी के शक्तिशाली लेजर हथियारों की तैनाती की है। इसके सहारे वह पश्चिम से यूक्रेन को सप्लाई किए गए ड्रोन को नष्ट करेगा। 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00