लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   World ›   Ruchira Kamboj warns UNSC against double standards on terrorism

Ruchira Kamboj at UNSC: आतंकवाद पर दोहरे मानदंड न अपनाए दुनिया, अफ्रीका समेत विश्वभर में बढ़ रहा खतरा

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला, न्यूयॉर्क Published by: सुरेंद्र जोशी Updated Wed, 10 Aug 2022 07:43 AM IST
सार

'आतंकी कृत्यों से अंतरराष्ट्रीय शांति व सुरक्षा को खतरा' विषय पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) की ब्रीफिंग आयोजित की गई थी। इसमें कंबोज ने कहा कि हमें आतंकवाद को किसी प्रेरणा पर आधारित बताने से बचना चाहिए, क्योंकि इससे अवसरवादी लोगों को इसे जायज ठहराने का मौका मिलेगा। 

सुरक्षा परिषद को संबोधित करतीं भारत की राजदूत रुचिरा कंबोज
सुरक्षा परिषद को संबोधित करतीं भारत की राजदूत रुचिरा कंबोज - फोटो : ANI
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

दुनियाभर में बढ़ते आतंकवाद को लेकर भारत ने फिर विश्व समुदाय को आगाह किया है। संयुक्त राष्ट्र में भारत की राजदूत रुचिरा कंबोज ने सुरक्षा परिषद के विशेष सत्र को संबोधित करते हुए दुनिया को चेताया कि वह आतंकवाद और आतंकवादियों को लेकर दोहरे मानदंड न अपनाए। अफ्रीका समेत विश्व के कई देशों में आतंकवाद फैल रहा है और यह पूरी दुनिया के लिए खतरा है।


'आतंकी कृत्यों से अंतरराष्ट्रीय शांति व सुरक्षा को खतरा' विषय पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) की ब्रीफिंग आयोजित की गई थी। इसमें कंबोज ने कहा कि हमें आतंकवाद को किसी प्रेरणा पर आधारित बताने से बचना चाहिए, क्योंकि इससे अवसरवादी लोगों को कुछ आतंकी गतिविधियों को उनकी सुविधा की दृष्टि से जायज ठहराने का मौका मिलेगा। 


अफ्रीका में पैर फैला रहा आईएसआईएस
भारतीय राजदूत ने कहा कि आईएसआईएस अब अफ्रीका में पैर फैला रहा है। विश्व समुदाय को आतंकी खतरे को अलग अलग नजरिये से देखना बंद कर इस पर पूरा ध्यान केंद्रित करना चाहिए, क्योंकि इसके दुनिया के अन्य हिस्सों में भी फैलने का उतना ही खतरा है। 

दुनिया के किसी भी हिस्से में यदि आतंकवाद है तो वह समूची दुनिया की शांति के लिए खतरा
रुचिरा कंबोज ने कहा कि यह हमारा सुविचारित मत है कि दुनिया के किसी भी हिस्से में यदि आतंकवाद है तो वह समूची दुनिया की शांति व सुरक्षा के लिए खतरा है। इसलिए इस चुनौती को हमारा जवाब एकीकृत, समन्वित और सबसे जरूरी है कि यह प्रभावी होना चाहिए। उन्होंने कहा कि आपको याद होगा कि 9/11 के कायरतापूर्ण हमले की 20 वीं बरसी के मौके पर भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने आतंकवाद से साझा ढंग से मुकाबले के लिए कई सुझाव दिए थे।

सुनें रुचिरा कंबोज ने क्या कहा
 


आतंकवाद पर भारत में विशेष बैठक अक्तूबर में 
इससे पहले आतंकवाद निरोधी समिति के कार्यवाहक कार्यकारी निदेशक वेक्सिओंग चेन  ने मंगलवार को आशा जताई कि अक्तूबर में भारत में होने वाली आतंकवाद विरोधी विशेष बैठक बहुपक्षीय प्रयासों को और मजबूत करेगी। उन्होंने कहा कि अक्तूबर में आतंकवाद से निपटने के नए उपाय ढूंढने के लिए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के सदस्यों की  विशेष बैठक होगी। भारत इसकी मेजबानी करेगा। इस बैठक की तैयारियों के बीच संयुक्त राष्ट्र के एक शीर्ष अधिकारी ने उम्मीद जताई है कि इस आयोजन से बहुपक्षीय और बहुआयामी आतंकवाद पर लगाम लगाने के प्रयास को और मजबूत करने में मदद मिलेगी।
उन्होंने कहा कि 'मैं 28 से 30 अक्तूबर 2022 तक भारत के नई दिल्ली और मुंबई में होने वाली आतंकवाद पर रोकथाम के उद्देश्यों के लिए उभरती प्रौद्योगिकियों के उपयोग पर आतंकवाद विरोधी समिति की आगामी विशेष बैठक की परिषद को सूचित करना चाहता हूं कि यह आयोजन हमारे बहुपक्षीय और बहुआयामी आतंकवाद विरोधी प्रयासों को और बढ़ाने और मजबूत करने के लिए एक मंच के रूप में काम करेगा।'

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00