विज्ञापन

नोबेल पुरस्कार 2018 : रसायन विज्ञान के क्षेत्र में योगदान के लिए इन तीन शख्सियतों को सम्मान

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला Updated Wed, 03 Oct 2018 07:43 PM IST
The Royal Swedish Academy of Sciences decided to award the Nobel Prize in Chemistry 2018
विज्ञापन
ख़बर सुनें
रसायन विज्ञान के क्षेत्र में इस साल जिन तीन वैज्ञानिकों को नोबेल पुरस्कार के लिए चुना गया है, उनमें अमेरिकी वैज्ञानिक फ्रांसिस हेमिल्टन अरनॉल्ड भी शामिल हैं। रसायन विज्ञान के क्षेत्र में नोबेल पाने वाली वह पांचवीं महिला हैं।
विज्ञापन
कैलिफोर्निया इंस्टीट्यूट ऑफ टैक्नोलॉजी में प्रोफेसर अरनॉल्ड ने ऐसे एंजाइम को विकसित किया है, जिससे जीवाश्म ईंधन जैसे जहरीले रसायनों की समस्या से निपटने में काफी मदद मिलेगी। स्वीडिश रॉयल साइंस अकादमी ने अरनॉल्ड के योगदान को देखते उन्हें पुरस्कार की आधी राशि देने की घोषणा की है। बाकी की राशि जॉर्ज पी. स्मिथ और सर ग्रेगरी विंटर में बंटेगी। नोबेल पुरस्कार की कुल राशि 10 लाख डॉलर है।

डार्विन के सिद्धांत को परखनली में उतारा
अकादमी की नोबेल रसायन कमेटी के प्रमुख क्लेस गुस्तफसन ने कहा कि तीनों वैज्ञानिकों ने विभिन्न क्षेत्रों में प्रोटीन के इस्तेमाल के लिए क्रम विकास के उसी सिद्धांत का इस्तेमाल किया, जिसके जरिये आनुवांशिक बदलाव और चयन किया जाता है।

उन्होंने कहा कि 2018 के नोबेल विजेताओं ने डार्विन के सिद्धांत को परखनली में उतारा। साथ ही आण्विक स्तर पर क्रमविकास की प्रक्रियाओं की समझ का इस्तेमाल कर अपनी प्रयोगशाला में उसे मूर्त रूप दिया।    
विज्ञापन
आगे पढ़ें

तीनों वैज्ञानिकों में अरनॉल्ड को मिलेगी पुरस्कार की आधी राशि

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Rest of World

खशोगी हत्या मामले में पांच सऊदी अधिकारियों को मिल सकती है मौत की सजा

पत्रकार जमाल खशोगी की हत्या मामले में सऊदी अरब के पांच अधिकारियों को मौत की सजा सुनाई जा सकती है। जबकि अभियोजक पक्ष ने इस मामले में सीधे तौर पर क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान को क्लीनचिट दे दी और कहा कि वह इसमें शामिल नहीं थे।

15 नवंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

हिंदू देवी के नाम से बसा है यह जापानी शहर

देश-विदेश में हिंदू धर्म के बहुत से खूबसूरत मंदिर बने हुए हैं। आज हम आपको विदेशी धरती पर बने एक ऐसे शहर के बारे में बताने जा रहे हैं, जो देवी लक्ष्मी के नाम पर बना हुआ है।

5 अक्टूबर 2018

Related

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree