विज्ञापन

बुर्किना फासो में फ्रांसीसी दूतावास और सैन्य मुख्यालय पर आत्मघाती हमला, 28 लोगों की मौत

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला, ओगाडोगु Updated Sun, 04 Mar 2018 03:28 AM IST
Suicide bombers attacked on French Embassy and military headquarters in Burkina Faso
ख़बर सुनें
बुर्किना फासो में फ्रांसीसी दूतावास और देश के सैन्य मुख्यालय पर हुए दो हमलों में 28 लोगों की मौत हो गई और 80 से अधिक लोग घायल हो गए। पश्चिम अफ्रीकी देश में ये हमले यहां बढ़ते खूनी और जिहादी संघर्ष का नतीजा माने जा रहे हैं। सरकार ने कहा कि सेना पर हमला एक आत्मघाती कार बम धमाका था और इस हमले का मकसद शायद जी-5 क्षेत्रीय आतंकवाद विरोधी दल की बैठक हो सकती है। बुर्किना फासो, चाड, माली, मौरिटानिया और निगार देशों के बीच यह समूह बना है जिन्होंने सहारा के दक्षिणी क्षेत्र में जिहादियों से मुकाबला करने के लिए संयुक्त सैन्य बल शुरू किया है। 
विज्ञापन
विज्ञापन
फ्रांसीसी दूतावास और देश के सैन्य मुख्यालय को लक्ष्य करके आतंकियों ने किया हमला

रक्षामंत्री केलेमेंट सवादोगो ने बताया कि सशस्त्र बल के 8 सदस्यों को विस्फोट करके और इसी दौरा फ्रांसीसी दूतावास पर हमला करके 28 लोगों को मारा गया। मंत्री ने बताया कि आठ हमलावरों को भी मार गिराया गया है। रक्षामंत्री सवादोगो ने इसे एक आत्मघाती हमला बताया। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक एक कार से कुछ बंदूकधारी बाहर निकले और दूतावास की तरफ जा रहे लोगों पर अचानक गोलीबारी करने लगे। दूसरी तरफ फ्रांस के विदेशमंत्री येन येव्स ली ड्रेन ने कहा है कि इसमें कोई शक नहीं कि ये एक आंतकवादी हमला था। 

हालांकि ये अब तक साफ नहीं हो पाया है कि ये हमले किसने किए। पिछले दो सालों में ओगाडोगु में यह तीसरा बड़ा हमला है। इस्लामिक उग्रवादियों ने इस हमले की जिम्मेदारी ली थी। जनवरी 2016 में यहां एक होटल पर हुए हमले में 30 लोगों की मौत हो गई थी।

आतंकियों पर कार्रवाई के चलते हमले की संभावना

बुर्किना फासो पश्चिम अफ्रीकी देश है, जहां कई बार सैन्य तख्तापटल हो चुका है। फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों के सत्ता में आने के बाद से फ्रांस ने पश्चिम अफ्रीका में इस्लामिक आतंकियों से निपटने के लिए यहां अपनी गतिविधियां बढ़ा ली है। ऐसे में हो सकता है कि इसी के विरोध में ये हमले हुए हों। राष्ट्रपति मैक्रों ने फिलहाल अपने देश के नागरिकों से कहा है कि वो हमले वाले जगह से दूर रहें।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Rest of World

युगांडा: बस दुर्घटना में कम से कम 19 एजीओ कार्यकर्ताओं की मौत

पूर्वी युगांडा में हुए बस हादसे में एक गैर सरकारी संगठन (एनजीओ) के कम से कम 19 कर्मियों की मौत हो गई और छह अन्य घायल हो गए। पुलिस ने बताया कि बस के अनियंत्रित होकर एक ऊंची चट्टान से लुढ़क जाने के कारण यह हादसा हुआ। 

19 दिसंबर 2018

विज्ञापन

चीन में अपने पति के लिए सिर मुंडवा रही हैं महिलाएं

चीन में जेल में बंद अपने पति को न्याय दिलाने के लिए पत्नियों ने अपने सिर के बाल मुंडवाकर प्रदर्शन किया। पेशे से वकील और उनके तीन समर्थक चीन की जेल में बंद हैं और बाहर उनकी पत्नियों ने अपने पतियों को आजाद कराने के लिए प्रदर्शन किया।

18 दिसंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree