उत्तर कोरिया भारत के लिए हो सकता है फायदेमंद, ट्रंप-किम मुलाकात से आएगी भारत में विदेशी मुद्रा

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला Updated Tue, 12 Jun 2018 04:55 PM IST
North Korea may be beneficial for India, Trump-Kim meet gain foreign exchange here
ख़बर सुनें
अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग-उन के बीच शिखर वार्ता के सफल नतीजे भारत के लिए फायदेमंद हो सकते हैं क्योंकि उत्तर कोरिया भारत के लिए उभरता बाजार साबित हो सकता है। उद्योग जगत से जुड़े ऑब्जर्वर्स ने यह बात कही। ट्रंप और किम के बीच पहली बार मंगलवार को शिखर वार्ता हुई है। माना जा रहा है कि इससे उत्तर कोरिया के अपने परमाणु हथियार छोड़ने की प्रक्रिया शुरू होगी।
सूत्र ने कहा , 'भारत ने पूर्वी एशिया के साथ आसियान देशों पर अपना अधिक ध्यान केंद्रित किया है और उत्तर कोरिया जैसा उभरता बाजार भारत के निर्यात आधारित उद्योग के विस्तार के लिए बहुत फायदेमंद होगा।' मोदी सरकार ने भारत की ऐक्ट ईस्ट नीति पेश की थी। यह नीति एशिया-प्रशांत क्षेत्र में पड़ोसी देशों के साथ मजबूत संबंध स्थापित करने पर केंद्रित है।

शिखर वार्ता का नतीजा आशावादी होना अच्छा रहेगा, हालांकि कुछ आशंकाएं अभी भी बनी हुई हैं क्योंकि ट्रंप और किम दोनों ही मजबूत नेता हैं। एक अन्य राजनयिक सूत्र ने कहा कि वैश्विक शांति के लिए किम ने बड़ा कदम उठाया है हालांकि, शिखर वार्ता को लेकर अभी कोई अनुमान लगाना जल्दबाजी होगी। एक उद्योग पर्यवेक्षक ने कहा कि भारत इस वार्ता में सीधे तौर पर शामिल नहीं है लेकिन इस तरह के अंतरराष्ट्रीय कार्यक्रमों में जाहिर तौर पर उसकी हिस्सेदारी है जो कि दुनिया भर में शांति के लिए काम करती है। 

पर्यवेक्षक ने जोर दिया कि भारत दुनिया की सबसे तेजी उभरती हुई अर्थव्यवस्था है और सभी के साथ उसके दोस्ताना संबंध हैं। भारत के अमेरिका के साथ-साथ सिंगापुर से भी मजबूत राजनयिक और आर्थिक संबंध हैं। सिंगापुर भारत की ऐक्ट ईस्ट नीति के लिए एक मंच है। 

Recommended

Spotlight

Most Read

Rest of World

इटली के जेनोआ शहर में ढहा पुल, मरने वालों की संख्या पहुंची 38

साल्विनी ने बताया कि हादसे में मारे गए लोगों में आठ, 12 और 13 वर्ष के बच्चें भी शामिल हैं।

15 अगस्त 2018

Related Videos

चार डिजिट के ATM पिन के छिपी है एक प्रेम कहानी, आप हो जाएंगे हैरान

पैसा निकालने के लिए एटीएम जाकर मशीन में अपना एटीएम डालते हैं, चार डिजिट का पिन एंटर करते हैं और आपका काम बन जाता है। लेकिन ये सब इतना आसान हुआ कैसे और एटीएम में पिन का सिस्टम कैसे बना यह बेहद दिलचस्प कहानी है।

8 अगस्त 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree