लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   World ›   Rest of World ›   mission to rescue 12 Thai schoolboys and their soccer coach from cave begins

थाईलैंड: दो हफ्ते बाद मौत को मात दे 6 बच्चे गुफा से आए सुरक्षित बाहर, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

एजेंसी, माई साई Updated Sun, 08 Jul 2018 08:56 PM IST
mission to rescue 12 Thai schoolboys and their soccer coach from cave begins
विज्ञापन
ख़बर सुनें

थाईलैंड की थाम लुआंग गुफा में पिछले दो हफ्ते से फंसे 6 बच्चे मौत को मात दे रविवार को सुरक्षित बाहर आ गए। हालांकि गुफा के अंदर 6 बच्चे और उनके फुटबॉल कोच अभी भी फंसे हुए हैं, जिन्हें निकालने की युद्धस्तर पर कोशिशें की जा रही हैं। यह जानकारी थाईलैंड के रक्षा मंत्रालय के एक अधिकारी ने दी। 



अधिकारी ने बताया कि गुफा से निकाले गए बच्चों को एंबुलेंस से अस्पताल पहुंचाया गया है। कई रेस्क्यू ऑपरेशन के नाकाम रहने के बाद पानी से सराबोर और संकरी गुफा से बच्चों और कोच को निकालने के लिए गोताखोरों की मदद ली गई। 


बचाव अभियान में लगे लोगों का कहना है कि बच्चों को निकालना वक्त के साथ रेस करने जैसा है क्योंकि मानसूनी बारिश के पानी से भरी गुफा की जलनिकास व्यवस्था पर पानी फिर सकता है। साथ ही फिर से बारिश की भी आशंका जताई जा रही है, जिससे अभियान प्रभावित हो सकता है। इस बीच, पहाड़ी गुफा में 100 से अधिक छेद किए गए हैं ताकि निकलने का एक अन्य मार्ग ढूंढा जा सके।

गुफा का एक चक्कर पूरा करने में लग रहे 11 घंटे

जानकारी के मुताबिक, गोताखोरों को गुफा का एक चक्कर पूरा करने में करीब 11 घंटे का वक्त लग रहा है। इससे बच्चों को सुरक्षित बाहर निकालने में ज्यादा समय लग रहा है। हालांकि उम्मीद जताई जा रही है कि गुफा में फंसे अन्य बच्चों और कोच भी जल्द बाहर निकाल लिया जाएगा। मिशन में लगे एक आर्मी कमांडर ने रेस्क्यू ऑपरेशन में एक से दो दिन का वक्त लगने की भी बात कही है। 

ऐसे चल रहा रेस्क्यू ऑपरेशन 

18 गोताखोरों में से 10 गोताखोर पहले चरण में अभियान को अंजाम दे रहे हैं। योजना के मुताबिक, ये गोताखोर गुफा के अंदर जा रहे हैं और वहां से दो गोताखोरों की मदद से एक बच्चे को बाहर लाया जा रहा है। हर एक बच्चे को सुरक्षित निकालने की कोशिश में दो गोताखोरों को लगाया गया है। 
 

23 जून को फंसी थी फुटबॉल टीम

वाइल्ड बोर्स नामक फुटबॉल टीम के सदस्य और कोच 23 जून से संकरी और अंधेरी गुफा में फंसे हुए हैं। ये लोग अभ्यास के बाद वहां गए थे और भारी मानसूनी बारिश के चलते गुफा में पानी भर जाने से फंस गए। बच्चों की उम्र 11 से 16 साल है।

मिली अंतरराष्ट्रीय मदद

फंसे लोगों को निकालने के लिए अंतरराष्ट्रीय मदद भी मिल रही है। अभियान में थाईलैंड नेवी सील के 5 गोताखोर के अलावा 13 विदेशी गोताखोर भी लगाए गए हैं। साथ ही आठ देशों के विशेषज्ञ भी जुटे हुए हैं। रेस्क्यू दल में ऑस्ट्रेलिया, ब्रिटेन, अमेरिका और यूरोप एवं एशिया के कई देशों के गोताखोर भी शामिल हैं। 

12.8 करोड़ लीटर पानी

अब तक गुफा से 12.8 करोड़ लीटर पानी बाहर खींचा जा चुका है। पिछले कुछ दिनों से पानी खींचने में लगे इंजन 24 घंटे काम कर रहे हैं।

खतरनाक है गुफा की हालत

गुफा की लंबाई 10316 मीटर बताई जा रही है। बच्चे गुफा के द्वार से करीब 4 किलोमीटर अंदर और पहाड़ की चोटी से करीब एक किलोमीटर नीचे फंसे हैं। जहां बच्चे फंसे हुए हैं, उसके पास पानी का बहाव बहुत ज्यादा है। 

गुफा के खतरनाक होने का अंदाजा इससे भी लगाया जा सकता है कि शुक्रवार को सामान पहुंचाने गए एक गोताखोर की लौटते वक्त मौत हो गई। 
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00