विज्ञापन

येरुशलम में अमेरिकी दूतावास का उद्घाटन, विरोधी  हिंसा में 52 फ्लीस्तीनी मरे

एजेंसी, येरुशलम Updated Tue, 15 May 2018 04:29 AM IST
Israel Kills 52 Palestinian at Gaza Border as U.S. Embassy Opens in Jerusalem
ख़बर सुनें
अमेरिका के इस्राइली दूतावास को तेल अवीव से येरुशलम स्थानांतरित करने के लिए सोमवार को होने वाले उद्घाटन समारोह से पहले गाजा पट्टी के सीमावर्ती प्रांत में हिंसा भड़क उठी। इस दौरान हुए संघर्ष में इस्राइली गोलीबारी में 52 फलस्तीनी मारे गए जबकि 500 से अधिक लोग घायल हो गए। मंत्रालय के मुताबिक मृतकों में एक 14 वर्षीय किशोर भी शामिल है।
विज्ञापन
विज्ञापन
येरुशलम में व्हाइट हाउस प्रतिनिधि मंडल के अलावा इस्राइली अधिकारी भी नए अमेरिकी दूतावास के उद्घाटन समारोह के लिए एकत्रित थे। इस बीच सीमा के पास हजारों लोग इकट्ठे हो गए और सीमा के पास पत्थर फेंकने लगे। 

फलस्तीन के प्रदर्शनकारी सीमा पर लगी बाड़ के नजदीक आ रहे थे, जबकि दूसरी तरफ इस्राइली सेना ने भी बाड़ तोड़ने की किसी भी कोशिश को नाकाम करने की पूरी तैयारी कर रखी थी। इस्राइली सेना ने कहा कि गाजा पट्टी सीमा के साथ कई जगहों पर करीब 10,000 फलस्तीनी दंगाई सुरक्षा बाड़ से करीब आधा किलोमीटर दूर तंबू में जुटे हुए थे। 

इस्राइली सेना ने गाजा पट्टी पर चेतावनी भरे पर्चे गिराए जिनमें कहा गया कि यदि प्रदर्शनकारी हिंसक दंगों में शामिल हुए या बाड़ के करीब आए तो उन्हें गोली मार दी जाएगी। इस बीच प्रदर्शनों के पीछे अहम भूमिका निभा रहे इस्लामिक संगठन हमास ने अपील की कि वे तूफान की तरह बाड़ को रौंद डालें। हमास प्रमुख याहया सिनवार ने कहा कि हजारों की संख्या में ऐसी बाड़ों को तोड़ना जो सीमा है ही नहीं, इसमें क्या समस्या है। इसके बाद प्रदर्शनकारी बाड़ की तरफ बढ़ने लगे।
 

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Rest of World

निसान के बर्खास्त चेयरमैन कार्लोस घोसन को फिर गिरफ्तार किया गया

जापानी अभियोजकों ने सोमवार को निसान मोटर्स के बर्खास्त चेयरमैन कार्लोस घोसन के खिलाफ आधिकारिक तौर पर आरोप दर्ज कराए।

11 दिसंबर 2018

विज्ञापन

फेसबुक ऑफिस में बम धमाके की धमकी, कर्मचारियों को तुरंत निकाला गया बाहर

फेसबुक कार्यालय में बम धमाके की धमकी मिलने से खलबली मच गई। बम की धमकी पर फेसबुक की इमारत को तुरंत खाली कराया गया। देखिए ये रिपोर्ट।

12 दिसंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree