किम से मिलने के बाद पिघले ट्रंप, बोले- युद्ध तो कोई भी कर सकता है शांति लाना बहादुरों का काम

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला Updated Tue, 12 Jun 2018 02:40 PM IST
DonaldTrump says US will stop military exercises on Korean peninsula, after summit with Kim Jong Un
ख़बर सुनें
उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की ऐतिहासिक मुलाकात का आखिरी दौर चल रहा है। दुनिया के दो कट्टर दुश्मनों की मुलाकात पर पूरी दुनिया की निगाहें टिकी थीं। इस बैठक का मकसद दोनों देशों के संबंधों को सामान्य बनाना तो था ही लेकिन उससे बड़ा उद्देश्य था कोरिया प्रायद्वीप से परमाणु का पूरी तरह से सफाया करवाना। ट्रंप और किम की यह मुलाकात कई मामलों में सफल मानी जा रही है। 
किम जोंग उन मुलाकात के बाद राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप मीडिया के सामने आए और अपने एकल बयान में कहा कि इतिहास का नया अध्याय शुरू हो चुका है। हमने इस बैठक के दौरान परमाणु के निरस्त्रीकरण पर भी समझौता किया है। उन्होंने आगे कहा कि किम के लिए यह बड़ा मौका है। ट्रंप ने अपनी मुलाकात को ऐतिहासिक बताया और कहा कि बातचीत उम्मीद से कहीं अच्छी रही है।

उन्होंने कहा कि हमदोनों के बीच बेहतर रिश्ते बनने के दरवाजे खुले हैं और हम मिलकर उत्तर कोरिया की बड़ी समस्याओं का भी निवारण करेंगे। हम साथ मिलकर काम करेंगे और उत्तर कोरिया का भी ध्यान रखेंगे। उन्होंने कहा कि कुछ देर में किन किन मामलों पर दोनों देशों ने समझौते किए इसका ऐलान हो जाएगा लेकिन उससे पहले मैं यह कहना चाहता हूं कि युद्ध तो कोई भी कर सकता है लेकिन शांति लाना सिर्फ बहादुरों का काम है और किम ने यह साबित कर दिया है।

यही नहीं ट्रंप ने कहा कि इस मुलाकात के बाद कोरिया के अमेरिका द्वारा चलाए जा रहे  पेनिनसुला में सैन्य अभ्यास को भी समाप्त कर दिया जाएगा। ट्रंप और किम के बीच यह मुलाकात सिंगापुर के लोकप्रिय पर्यटन स्थल सेंटोसा के एक होटल में हुई। 

Recommended

Spotlight

Most Read

Rest of World

इटली के जेनोआ शहर में ढहा पुल, मरने वालों की संख्या पहुंची 38

साल्विनी ने बताया कि हादसे में मारे गए लोगों में आठ, 12 और 13 वर्ष के बच्चें भी शामिल हैं।

15 अगस्त 2018

Related Videos

चार डिजिट के ATM पिन के छिपी है एक प्रेम कहानी, आप हो जाएंगे हैरान

पैसा निकालने के लिए एटीएम जाकर मशीन में अपना एटीएम डालते हैं, चार डिजिट का पिन एंटर करते हैं और आपका काम बन जाता है। लेकिन ये सब इतना आसान हुआ कैसे और एटीएम में पिन का सिस्टम कैसे बना यह बेहद दिलचस्प कहानी है।

8 अगस्त 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree