महात्मा गांधी को ट्रेन से जबरन उतारने की 125वीं बरसी में शामिल होंगी सुषमा

एजेंसी, जोहांसबर्ग Updated Fri, 18 May 2018 09:10 AM IST
125 years of eviction of Mahatma Gandhi from Pietermaritzburg station of South Africa
ख़बर सुनें
दक्षिण अफ्रीका में महात्मा गांधी को ट्रेन से जबरन उतारने की घटना की 125वीं बरसी के मौके पर आयोजित समारोह में अगले महीने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज भी हिस्सा लेंगी। इस घटना से प्रेरित होकर महात्मा गांधी ने दक्षिण अफ्रीका और भारत में सत्याग्रह आंदोलन की शुरुआत की थी। 
सात जून, 1893 को पीटरमारित्जबर्ग स्टेशन पर युवा वकील मोहनदास करम चंद्र गांधी ट्रेन से सफर कर रहे थे। प्रथम श्रेणी का यह डिब्बा श्वेत लोगों के लिए आरक्षित था। पर गांधी जी को इस डिब्बे से जबरन उतारकर बाहर फेंक दिया गया। 

इस इसी घटना की याद में 125वीं बरसी आयोजित की जा रही है। दक्षिण अफ्रीका में भारतीय राजदूत रूचिता कंबोज के मुताबिक दो दिवसीय समारोह में 500 मेहमान भाग लेंगे। सुषमा ट्रेन से पेंट्रिच स्टेशन से पीटरमारित्जबर्ग स्टेशन तक की प्रतीकात्मक यात्रा भी करेंगी।

RELATED

Spotlight

Most Read

Rest of World

मार डाले 300 मगरमच्छ, भीड़ ने लिया एक व्यक्ति की मौत का बदला

इंडोनेशिया में मगरमच्छ के काटने से एक व्यक्ति की मौत हो गई। इसके बाद गुस्साई भीड़ ने प्रतिशोध की आग में करीब 300 मगरमच्छों को मार डाला।

16 जुलाई 2018

Related Videos

दुनिया को हैरान कर रहा ये शख्स, आप भी देखें कैसे

दुनिया में ऐसे इंसानों की कमी नहीं जिनकी कला से लोग हैरत में पड़ जाते हैं। आइए आपको एक ऐसे शख्स से मिलवाते हैं जिनकी कला अद्भुत है...

24 अप्रैल 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen