लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   World ›   PM Sharif invitesTurkey to join China-Pakistan Economic Corridor

CPEC: पाकिस्तान की नई चाल, चीन-पाक आर्थिक गलियारा प्रोजेक्ट में तुर्किये को शामिल होने का न्योता

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला, इस्लामाबाद Published by: सुरेंद्र जोशी Updated Sat, 26 Nov 2022 01:39 PM IST
सार

पाकिस्तान के पीएम शरीफ ने तुर्किये के राष्ट्रपति रेसेप तैयप एर्दोगन के साथ अंकारा यात्रा के दौरान एक साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह प्रस्ताव किया। पाकिस्तानी अखबार 'डॉन' ने शरीफ के हवाले से कहा, 'मैं सुझाव दूंगा कि चीन और पाकिस्तान के बीच तुर्किये  सहयोग करे।'

चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा परियोजना
चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा परियोजना - फोटो : प्रतीकात्मक तस्वीर
विज्ञापन

विस्तार

चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा परियोजना (CPEC) को लेकर अब पाक ने नई चाल चली है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहबाज शरीफ ने अब इस परियोजना में शामिल होने के लिए तुर्किये को शामिल होने का न्योता दिया है। शरीफ ने यह कदम ऐसे समय उठाया है, जबकि भारत पीओके में इस परियोजना के क्रियान्वयन का लगातार विरोध कर रहा है। 



पाकिस्तान के पीएम शरीफ ने तुर्किये के राष्ट्रपति रेसेप तैयप एर्दोगन के साथ अंकारा यात्रा के दौरान एक साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह प्रस्ताव किया। पाकिस्तानी अखबार 'डॉन' ने शरीफ के हवाले से कहा, 'मैं सुझाव दूंगा कि चीन और पाकिस्तान के बीच तुर्किये सहयोग करे। यह एक अद्भुत साझा सहयोग होगा। इसके जरिए हम मौजूदा चुनौतियों का सामना कर सकते हैं।'


तुर्किये सहमति दे तो चीन से करेंगे बात
पाकिस्तानी अखबार डॉन के मुताबिक पीएम शरीफ ने कहा कि अगर तुर्किये सीपीईसी में शामिल होने के लिए आगे बढ़ता है तो उसे चीनी नेतृत्व के साथ इस मामले पर चर्चा करने में खुशी होगी। पाक पीएम शहबाज शरीफ का तुर्किये से यह प्रस्ताव पाकिस्तान और चीन द्वारा संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता के मुद्दों पर भारत के विरोध के बावजूद सामने आया है। पाकिस्तान व चीन सीपीईसी को अफगानिस्तान में भी बढ़ाने पर विचार कर रहे हैं। 

चीन की बीआरआई का हिस्सा है सीपीईसी
दरअसल, सीपीईसी चीन की महत्वाकांक्षी परियोजना बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव (BRI) का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। इसका उद्देश्य चीन के प्राचीन व्यापार मार्गों का नवीनीकरण करना है। भारत 60 अरब डॉलर की परियोजना का लगातार विरोध कर रहा है। यह बलूचिस्तान में पाकिस्तान के दक्षिणी ग्वादर बंदरगाह को चीन के पश्चिमी झिंजियांग से जोड़ेगी और पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से होकर गुजरेगी। 

चीन ने पाकिस्तान को दिया लगातार मदद का भरोसा
इसी महीने की शुरुआत में पीएम शाहबाज शरीफ ने चीन की यात्रा की थी। इस दौरान चीन ने पाकिस्तान को आर्थिक और रणनीतिक परियोजनाओं के लिए निरंतर मदद का भरोसा दिया था। चीन व पाकिस्तान ने अफगानिस्तान की विदेशी वित्तीय संपत्तियों को वापस लेने में और अन्य मदद की जरूरत पर भी जोर दिया था। 

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00