लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   World ›   Pentagon expands scope of word extremism to include terrorism

अमेरिका: पेंटागन ने आतंकवाद में शामिल करने के लिए ‘चरमपंथ’ शब्द का दायरा बढ़ाया

एजेंसी, वाशिंगटन। Published by: Jeet Kumar Updated Sat, 25 Dec 2021 02:20 AM IST
सार

मूल रूप से पेंटागन द्वारा 9/11 के बाद इस्लामी आतंकवाद से निपटने के लिए अनुशंसित बदलाव के बतौर लाई गई नीति में 6 जनवरी को अमेरिकी संसद भवन पर हमले के बाद इसे संशोधित किया गया है।

सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर - फोटो : सोशल मीडिया
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

अमेरिकी रक्षा मंत्रालय (पेंटागन) ने अपनी नीतियों को आगे बढ़ाने के मकसद से ‘चरमपंथ’ (एक्सट्रीमिज्म) शब्द का दायरा बढ़ाते हुए इसे आतंकवाद में शामिल किया है। अब चरमपंथी गतिविधियों का मतलब, अमेरिका या विदेश में आतंकवाद की वकालत करना, उसमें शामिल होना या उसका समर्थन करना माना जाएगा।



द जिनेवा डेली की रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिकी रक्षा मंत्रालय एक सख्त चरमपंथ विरोधी नीति लेकर आया है जिसमें चरमपंथी सामग्री को ‘पसंद’ करने या किसी भी तरह के आतंकवाद का समर्थन करने पर संबंधित सदस्य को दंडित किया जा सकता है।


मूल रूप से पेंटागन द्वारा 9/11 के बाद इस्लामी आतंकवाद से निपटने के लिए अनुशंसित बदलाव के बतौर लाई गई नीति में 6 जनवरी को अमेरिकी संसद भवन पर हमले के बाद इसे संशोधित किया गया है।

रक्षामंत्री लॉयड ऑस्टिन ने चरमपंथी की सीमा खोजने के लिए नीति की समीक्षा की और लोगों को चरमपंथी विचारों से रोकने के उपायों पर चर्चा की थी। यह नीति ऐसे नियम पेश करती है जो विशेष रूप से सोशल मीडिया पर सैनिकों की गतिविधियों को नियंत्रित करते हैं। नई नीति के तहत, चरमपंथी सामग्री को ‘पसंद’ करने पर सैन्य दंड दिया जा सकता है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन
विज्ञापन
Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00