विज्ञापन
विज्ञापन

पाकिस्तान में आतंकी मसूद अजहर के मारे जाने की अटकलें, जानिए क्या है पूरा मामला

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला Updated Tue, 25 Jun 2019 12:38 PM IST
मसूद अजहर
मसूद अजहर - फोटो : File Photo
ख़बर सुनें
पाकिस्तान के रावलपिंडी सैन्य अस्पताल में हुए एक धमाके में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर के घायल होने की खबरें आई हैं। हैरानी की बात तो ये है कि 'फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स' (एफएटीएफ) द्वारा पाकिस्तान को दी गई चेतावनी के महज दो दिन बाद ये घटना हुई है। एफएटीएफ ने पाकिस्तान को अक्तूबर तक अपनी प्रतिबद्धता को पूरा करने या कार्रवाई का सामना करने की चेतावनी दी है, जिसके तहत उसे काली सूची में डाला जा सकता है।
विज्ञापन
विज्ञापन
इस खबर पर पाकिस्तान का पूरा मीडिया चुप है। हालांकि घटना से संबंधित वीडियो और तस्वीरें पाकिस्तानी लोगों द्वारा ट्विटर पर खूब शेयर की जा रही हैं। सोशल मीडिया के दावे के मुताबिक इसमें 10 और लोग घायल हुए हैं। सख्ती के चलते ना तो मसूद के घायल होने की पुष्टि हुई और ना ही मीडिया को अस्पताल में जाने दिया गया। 

इससे पहले मार्च में खबरें आई थीं कि आतंकी मसूद अजहर बालाकोट एयर स्ट्राइक में मारा गया है। ये एयर स्ट्राइक पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारतीय वायु सेना ने जैश के ठिकानों पर की थी। लेकिन जब ऐसी खबरें आईं, तो पाकिस्तान ने इसे कवर करते हुए कहा कि मसूद अजहर बीमार है और उसका इलाज सैन्य अस्पताल में चल रहा है। 

रिपोर्ट में कहा जा रहा है कि अजहर इस हमले में घायल हुआ है लेकिन फिलहाल उसकी स्थिति क्या है, इसपर पाकिस्तान खामोश है। ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं कि हो सकता है अस्पताल पर ये हमला भी पाकिस्तान ने खुद ही कराया हो। ताकि कुछ समय बाद वह अजहर की मौत की पुष्टि कर दे। 

क्वेटा के एक मानवाधिकार कार्यकर्ता अहसानल्लाह मियाखेल का दावा है कि अस्पताल प्रशासन यहां सख्ती इसलिए बरत रहा है क्योंकि वहां कई ऐसे लोग हैं जिनका नाम मीडिया में आने से बवाल हो सकता है। उन्होंने ही ट्विटर पर दावा किया कि इसी अस्पताल में जैश सरगना मसूद अजहर भी भर्ती था। बताया गया कि मीडिया को किसी भी तरह की खबरें न छापने को भी कहा गया है। मियाखेल के ट्वीट के बाद लगातार पाकिस्तानी लोग ही कई तरह के सवाल खड़े कर रहे हैं। 
 



इस खबर के साथ ही कार्यकर्ता ने एक वीडियो भी शेयर किया, जिसमें इमारत से धुंआ निकलता दिख रहा है। इस खबर को लेकर और कोई जानकारी सामने नहीं आ रही है। 

अजहर भारत में पुलवामा सहित कई आतंकी हमलों को अंजाम दे चुका है। चाहे पठानकोट हमला हो या फिर उरी हमला, सबमें इसी का हाथ रहा है। 14 फरवरी को जैश ने ही आतंकी आदिल अहमद डार का वीडियो जारी किया, जिसमें उसने पुलवामा हमले की पूरी जिम्मेदारी ली।

जनवरी, 2016 को पठानकोट हमले में 7 भारतीय जवानों की जान भी इसी संगठन ने ली। इसके अलावा सितंबर 2016 में भी हुए उरी हमले के पीछे भी इस संगठन का हाथ था। इस हमले में 19 भारतीय जवान शहीद हुए थे। 

Recommended

इन्वर्टिस यूनिवर्सिटी में 'अभिरुचि' से निखारी जाती है छात्रों की प्रतिभा
Invertis university

इन्वर्टिस यूनिवर्सिटी में 'अभिरुचि' से निखारी जाती है छात्रों की प्रतिभा

समस्या कैसे भी हो, हमारे ज्योतिषी से पूछें सवाल और पाएं जवाब मात्र 99 रूपये में
Astrology

समस्या कैसे भी हो, हमारे ज्योतिषी से पूछें सवाल और पाएं जवाब मात्र 99 रूपये में

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

World

पाकिस्तान के पूर्व पीएम शाहिद खाकान अब्बासी गिरफ्तार, लगा गंभीर आरोप

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी को राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो ने गिरफ्तार कर लिया है।

18 जुलाई 2019

विज्ञापन

बिजली चोरी रोकने के लिए मोदी सरकार का मेगा प्लान तैयार

बिजली चोरी रोक कर 24 घंटे बिजली सप्लाई करने का बड़ा प्लान नरेंद्र मोदी सरकार ने तैयार किया है। खबरों की माने तो मोदी सरकार 3 स्तरीय प्लान में ईमानदार बिजली ग्राहकों को 24 घंटे बिजली सप्लाई करेगी।

18 जुलाई 2019

Related

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree