विज्ञापन

नवाज और मरियम शरीफ की गिरफ्तारी का क्या होगा पाकिस्तानी सियासत पर असर?

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला Updated Sat, 14 Jul 2018 12:51 AM IST
What will happen to Nawaz and Maryam Sharif arrest in Pakistan Politics?
विज्ञापन
ख़बर सुनें
भ्रष्टाचार के एक मामले में पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को दस और उनकी बेटी मरियम शरीफ को सात साल की सजा सुनाई गई है। जब उन्हें सजा सुनाई गई तो नवाज शरीफ अपनी पत्नी के इलाज के लिए लंदन में थे। इसके बाद शुक्रवार रात वह वतन लौटे। नवाज की पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज ने अपने नेता के स्वागत के लिए कार्यकर्ताओं से भारी तादाद में हवाई अड्डे पहुंचने की अपील की थी। कई कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया गया है।
विज्ञापन
तैनात किए 10,000 पुलिसकर्मी

शरीफ के लाहौर पहुंचने से पहले सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई थी। हवाईअड्डे के आसपास सभी रास्तों को कंटेनरों से जाम कर दिया गया था। करीब 10 हजार पुलिसकर्मी पूरे शहर में कानून-व्यवस्था संभालने और शरीफ समर्थकों को हवाईअड्डे तक पहुंचकर स्वागत करने से रोकने के लिए तैनात किए गए थे। बावजूद इसके लाहौर की सड़कों पर हजारों की तादाद में नवाज समर्थक दिखाई दिए।

पुलिस-नवाज समर्थकों में हुईं झड़प

लाहौर समेत कई शहरों में पुलिस और शरीफ समर्थकों के बीच झड़प भी हुईं। पंजाब सरकार ने लाहौर में मोबाइल और इंटरनेट सेवा बंद कर दी थी। पीएमएल-एन के 300 से ज्यादा कार्यकर्ताओं और नेताओं को हिरासत में ले लिया गया था। 

लंदन के फ्लैट के मामले में मिली सजा

2016 में पनामा पेपर स्कैंडल में नाम आने के बाद नवाज शरीफ को जुलाई, 2017 में प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा था। जांच के बाद शरीफ और उनकी बेटी पर मनी लांड्रिंग का केस चलाया गया। भ्रष्टाचार रोधी अदालत ने लंदन के एवनफील्ड में परिवार के चार फ्लैट के मामले में शरीफ, उनकी बेटी और दामाद को सजा दी है।

बता दें कि पाकिस्तान में 25 जुलाई को आम चुनाव होने हैं। नवाज शरीफ का आरोप है कि राजनीतिक कारणों से देश की प्रभावशाली सेना उन्हें फंसा रही है। पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और उनकी बेटी मरियम नवाज को पाकिस्तान पहुंचते ही गिरफ्तार कर लिया गया है।

इससे पहले अबू धाबी से चला विमान उन्हें लेकर लाहौर पहुंचा। वहां पाकिस्तान के नेशनल एकाउंटिबलिटी ब्यूरो (एनएबी) के अधिकारियों ने नवाज शरीफ और उनकी बेटी मरियम नवाज को हिरासत में ले लिया। 

सूत्रों के मुताबिक गिरफ्तार किए जाने पर नवाज शरीफ ने कार से जाने से इनकार कर दिया। जिसके बाद उन्हें और उनकी बेटी को लाहौर हवाईअड्डे से एक विमान के जरिए ले जाया गया। हालांकि अभी ये साफ नहीं है कि उन्हें कहां ले जाया जा रहा है, पर माना जा रहा है कि उन्हें लाहौर से बाहर ले जाया जा रहा है ताकि वहां सड़कों पर उतरे हजारों पार्टी कार्यकर्ताओं से उन्हें दूर रखा जाए।

नवाज शरीफ की पार्टी पीएमएल-एन समर्थकों की भीड़ की हवाई अड्डे पहुंचने की कोशिश नाकाम रही। इस रैली का नेतृत्व नवाज शरीफ के भाई और पार्टी अध्यक्ष शाहबाज शरीफ कर रहे थे। उन्होंने कहा कि रैली खत्म होने पर आगे की रणनीति के बारे में बताया जाएगा।

उन्होंने कहा, 'नवाज शरीफ पाकिस्तान के शिल्पी हैं। पंजाब लाहौर का खास तौर से अहसानमंद है।' उधर नवाज शरीफ के पाकिस्तान पहुंचने से ठीक पहले चुनावी रैली के दौरान दो बम धमाकों में कम से कम 14 लोगों की मौत हो गई है।

पहला धमाका दक्षिण पश्चिम बलूचिस्तान प्रांत में हुआ, जिसमें दस लोगों की मौत हुई है। उससे पहले बानू में बम धमाके में चार लोगों की मौत हुई थी। इससे दो दिन पहले पेशावर में एक चुनावी रैली में आत्मघाती बम धमाके में 20 लोगों की मौत हुई थी। उस धमाके की जिम्मेदारी पाकिस्तानी तालिबान ने ली थी।

नवाज शरीफ को मालूम है कि उन्हें 10 साल की सजा हो गई है और उन्हें जेल ले जाया जाएगा। वह यह सब कुछ पाकिस्तान की जनता के लिए कर रहे हैं। वह कह रहे हैं कि यह कुर्बानी आपकी नस्लों के लिए और पाकिस्तान के भविष्य के लिए दे रहा हूं। उन्होंने देश की जनता से अपील करते हुए कहा कि वो कदम से कदम मिलाकर और हाथ में हाथ डाल कर चलें और मुल्क की तकदीर बदलें। मरयम ने कहा कि ये मौके बार-बार नहीं आएंगे।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news, Crime all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Pakistan

जब्त संपत्तियां छुड़वाने कोर्ट जाएगा मुंबई हमले का मास्टरमाइंड हाफिज सईद

मुंबई हमले के मास्टरमाइंड और प्रतिबंधित आतंकी संगठन लश्कर-ए-ताइबा के संस्थापक हाफिज सईद ने अपनी जब्त संपत्तियों के लिए पाकिस्तान सरकार के साथ अदालती लड़ाई लड़ने की तैयारी कर ली है। 

20 सितंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

पाकिस्तान की संसद में इकलौते हिंदू सांसद की दस्तक

पाकिस्तान की नेशनल असेंबली यानी संसद में एक हिंदू ने भी दस्तक दी है। महेश कुमार मलानी पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के टिकट पर दक्षिण सिंध प्रांत की थारपरकर सीट से जीतने वाले पहले हिंदू हैं।

27 जुलाई 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree