Hindi News ›   World ›   Pakistan Economy Crisis: Now electricity is too expensive in Pakistan, preparing to hand over government companies to private hands

Pakistan Crisis : पाकिस्तान में अब बिजली भी महंगी, सरकारी कंपनियों को निजी हाथों में सौंपने की तैयारी

एजेंसी, इस्लामाबाद। Published by: योगेश साहू Updated Sat, 28 May 2022 02:20 AM IST
सार

इमरान खान ने ट्वीट कर शहबाज सरकार को आयातित बताते हुए कहा, यह देश के इतिहास में एक बार में की गई सबसे तेज वृद्धि है। अब आम जनता ‘ठगों के गुट’ के कारण भीषण महंगाई से जूझेगी। कर्ज के लिए सरकार ने लोगों की परवाह किए बिना आईएमएफ के सामने घुटने टेक दिए हैं।

पाकिस्तान में आर्थिक संकट
पाकिस्तान में आर्थिक संकट - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) की 1992 करोड़ पाकिस्तानी रुपये कर्ज रिलीज करने के लिए रखी गई शर्त के बाद शहबाज शरीफ की सरकार ने बिजली की कीमतों में 7 रुपये प्रति यूनिट का इजाफा कर दिया है। इससे पहले उसने करीब 30 रुपये प्रति लीटर ईंधन के दाम भी बढ़ा दिए। इस पर पूर्व पीएम इमरान खान ने एक बार फिर भारत की तारीफ कर कहा, पड़ोसी ने रूस से सस्ता तेल खरीदकर ईंधन के दाम काबू रखने में सफलता पाई है।



पाकिस्तान में लाभ में चल रही सरकारी बिजली कंपनियों को निजी हाथों में सौंपने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। कंपनियां 2600 करोड़ रुपये घाटे में हैं। आईएमएफ ने बिजली कंपनियां प्रांतों को सौंपने का भी सुझाव दिया है। ऐसे में बढ़ी हुई बिजली दरें एक जुलाई से प्रभावी हो जाएंगी। ईंधन और बिजली दरों में वृद्धि से देश में महंगाई बढ़ने की आशंका है।




इस पर इमरान खान ने भारत ने अमेरिका से मित्रता निभाते हुए रूस के साथ सस्ते दाम पर तेल खरीदकर ईंधन के दाम 25 पाकिस्तानी रुपये प्रति लीटर तक कम रखने में कामयाबी पाई है। जबकि शहबाज शरीफ सरकार ने पीटीआई द्वारा रूस के साथ 30 फीसदी सस्ता तेल खरीदने के लिए किए गए सौदे को आगे नहीं बढ़ाया। 

शरीफ सरकार ‘ठगों के गुट’
इमरान खान ने ट्वीट कर शहबाज सरकार को आयातित बताते हुए कहा, यह देश के इतिहास में एक बार में की गई सबसे तेज वृद्धि है। अब आम जनता ‘ठगों के गुट’ के कारण भीषण महंगाई से जूझेगी। कर्ज के लिए सरकार ने लोगों की परवाह किए बिना आईएमएफ के सामने घुटने टेक दिए हैं। इमरान ने कहा, हमारा देश विदेशी आकाओं के सामने सरकार की अधीनता की कीमत चुकाने लगा है।

आजादी मार्च : इमरान व समर्थकों के खिलाफ आगजनी के केस दर्ज
पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान और उनकी पार्टी पीटीआई के अन्य वरिष्ठ नेताओं के खिलाफ पुलिस ने आगजनी और तोड़फोड़ के दो अलग-अलग मामले दर्ज किए हैं। इस्लामाबाद में ‘आजादी’ रैली के दौरान पीटीआई समर्थकों के कई जगह आग लगाने पर ये केस दर्ज किए गए हैं। इमरान ने घोषणा के अनुसार छह दिन बाद दूसरा विरोध प्रदर्शन शुरू किया तो नेताओं को पकड़ने के लिए इन मामलों का इस्तेमाल किया जा सकता है।

पाक सेना प्रमुख के खिलाफ अभद्र और अपमानजनक टिप्पणी करने वाले वकील के खिलाफ केस दर्ज
पाकिस्तान पुलिस ने थल सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा के खिलाफ अपमानजनक और अपमानजनक टिप्पणी करने के मामले में वकील इमान हाजीर मजारी और पूर्व मानवाधिकार मंत्री शिरीन मजारी की बेटी के खिलाफ शुक्रवार को मामला दर्ज किया।

जज एडवोकेट जनरल, जीएचक्यू के लेफ्टिनेंट कर्नल सैयद हुमायूं इफ्तिखार के आवेदन पर इस्लामाबाद के रमना पुलिस स्टेशन में धारा 505 (अभद्र भाषा) और पाकिस्तान दंड संहिता की धारा 138 के तहत उसके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई थी।

प्राथमिकी दर्ज करने की मांग वाली अर्जी के मुताबिक मजारी ने 21 मई को पाकिस्तानी सेना और उसके प्रमुख जनरल बाजवा के खिलाफ अपमानजनक और नफरत भरा बयान दिया था।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00