लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   World ›   Pak non-profit foundation urges India and Pakistan to honour Bhagat Singh with highest civil award

Bhagat Singh: पाकिस्तान के फाउंडेशन की मांग, भगत सिंह को सम्मानित करे भारत और पाक सरकार

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला, इस्लामाबाद Published by: Amit Mandal Updated Thu, 29 Sep 2022 11:02 PM IST
सार

भगत सिंह मेमोरियल फाउंडेशन ने भारतीय और पाकिस्तानी प्रधानमंत्रियों से भगत सिंह को उपमहाद्वीप के लोगों के लिए उनकी बहादुरी और बलिदान के सम्मान में सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार देने का आग्रह किया।

भगत सिंह जयंती
भगत सिंह जयंती - फोटो : Twitter/ind_Cyborg
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

पाकिस्तान में एक गैर-लाभकारी संस्था ने भारत और पाकिस्तान से स्वतंत्रता सेनानी भगत सिंह को उपमहाद्वीप के लोगों के लिए उनकी बहादुरी और बलिदान के सम्मान में सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार से सम्मानित करने की अरपील की। भगत सिंह मेमोरियल फाउंडेशन ने बुधवार को लाहौर उच्च न्यायालय के परिसर में भगत सिंह की जयंती मनाई। भगत सिंह और उनके साथी साथियों शिवराम हरि राजगुरु और सुखदेव के समर्थन में नारेबाजी के बीच वकीलों के समुदाय ने केक काटा। इस अवसर पर फाउंडेशन के अध्यक्ष इम्तियाज रशीद कुरैशी ने भगत सिंह को श्रद्धांजलि दी।



उन्होंने भारतीय और पाकिस्तानी प्रधानमंत्रियों से भगत सिंह को उपमहाद्वीप के लोगों के लिए उनकी बहादुरी और बलिदान के सम्मान में सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार देने का आग्रह किया। उन्होंने उनसे सामाजिक और आर्थिक संबंधों को बहाल करने और दोनों देशों के बीच शांति को बढ़ावा देने के लिए सुलभ वीजा नीति पेश करने की भी मांग की। सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष पीर कलीम अहमद ने लाहौर में शादमान चौक का नाम भगत सिंह के नाम पर रखने की फाउंडेशन की मांग को दोहराया। भगत को 23 मार्च, 1913 को ब्रिटिश शासकों ने राजगुरु और सुखदेव के साथ फांसी दे दी थी।


फाउंडेशन ने मांग की कि नए ब्रिटिश राजा चार्ल्स III को पाकिस्तान और भारत और तीन क्रांतिकारियों के परिवारों से माफी मांगनी चाहिए और उन्हें बड़ा मुआवजा देना चाहिए। इसने यह भी मांग की कि पाकिस्तानी सरकार भगत सिंह को सम्मानित करने के लिए स्मारक टिकट और सिक्के जारी करे। इसके अलावा इसने कहा कि देश में एक प्रमुख सड़क का नाम भी उनके नाम पर रखा जाना चाहिए और पाठ्यक्रम में उनके साहस और बहादुरी के पाठों को शामिल किया जाना चाहिए।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00