लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   World ›   Nirav Modis extradition to India trials will begin from today in UK over fraud and money laundering case

ब्रिटेन में शुरू हुई पीएनबी घोटाले के आरोपी नीरव मोदी के प्रत्यर्पण की सुनवाई

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला, लंदन Published by: Sneha Baluni Updated Mon, 11 May 2020 10:22 AM IST
नीरव मोदी (फाइल फोटो)
नीरव मोदी (फाइल फोटो) - फोटो : ANI
विज्ञापन

पंजाब नेशनल बैंक से 13 हजार करोड़ रुपये का घोटाला कर ब्रिटेन में छिपकर बैठे भगोड़े हीरा व्यापारी नीरव मोदी पर भारत का शिकंजा कसना शुरू हो गया। प्रत्यर्पण के खिलाफ नीरव की याचिका पर पांच दिवसीय सुनवाई सोमवार को शुरू हुई।



कोरोना महामारी को देखते हुए नीरव मोदी को वीडियो लिंक के जरिये वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट के समक्ष पेश किया गया। नीरव मोदी पिछले साल मार्च में गिरफ्तार होने के बाद से दक्षिण पश्चिम लंदन की वैंड्सवर्थ जेल में बंद है।


सोमवार को सफेद शर्ट और काला कोट पहने 49 वर्षीय नीरव मोदी जिला जज सैम्यूल गूजी के समक्ष पेश हुआ। इस दौरान भारत की ओर से पैरवी कर रहे क्राउन प्रॉसिक्यूशन सर्विसेज (सीपीएस) की वकील हेलन मेलकम ने कोर्ट को बताया कि इस मामले में कुछ भी बहुत जटिल नहीं है।

मोदी पर पंजाब नेशनल बैंक से करीब साढ़े 13 हजार करोड़ रुपये की रकम की धोखाधड़ी का मामला है। उन्होंने कहा, इस केस के मुख्य रूप से तीन पहलू हैं- पहला पैसों की धोखाधड़ी, फिर फर्जी ढंग से उस रकम की लॉन्ड्रिंग और तीसरा नीरव मोदी के सम्राज्य के इर्द-गिर्द उस रकम का घूमना है।

उन्होंने बताया कि कैसे नीरव मोदी ने डमी कंपनियों के नाम पर इस रकम का हेरफेर किया। कोर्ट इस मामले में अब नीरव मोदी की दलीलें मंगलवार को सुनेगा। ब्रिटेन सरकार ने भारत की मांग को मंजूर करते हुए नीरव मोदी के भारत प्रत्यर्पण के लिए पिछले साल आदेश दे दिया था।

नीरव ने इस आदेश को अदालत में चुनौती दी है। कोर्ट इससे पहले हुई सुनवाई में नीरव को जमानत देने से इनकार कर चुका है। कोर्ट का मानना है कि अगर नीरव को जमानत पर रिहा किया गया तो उसके वापस आत्म समर्पण करने की संभावना बहुत कम है।
विज्ञापन

ऐसा पूरी तरह संभव है कि वह वापस नहीं लौटेगा इसलिए उसे जमानत नहीं दी जा सकती। नीरव के खिलाफ बैंक से धोखाधड़ी करने, ऋण नहीं चुकाने और सबूतों को मिटाने के मामले में सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय ने मामला दर्ज किया है। नीरव मोदी को पिछले साल 19 मार्च को स्कॉटलैंड यार्ड ने लंदन में उसके फ्लैट से गिरफ्तार किया था।

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00