विज्ञापन
विज्ञापन

खशोगी की मंगेतर बोलीं, 'अमेरिका की ऐसी प्रतिक्रिया देखकर जमाल को कितना बुरा लगा होगा'

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला Updated Thu, 16 May 2019 11:28 AM IST
हैटिस केंगिज
हैटिस केंगिज - फोटो : social media
ख़बर सुनें
सऊदी पत्रकार और अमेरिकी नागरिक जमाल खशोगी की हत्या को लेकर अमेरिकी प्रतिक्रिया की उनकी मंगेतर ने निंदा की है। उन्होंने बुधवार को वाशिंगटन पोस्ट से कहा कि ट्रंप प्रशासन सऊदी सरकार को अपराध के परिणामों से बचने की अनुमति देकर अमेरिकी मूल्यों को बनाए रखने में विफल रहा है।
विज्ञापन
खशोगी की मंगेतर हैटिस केंगिज ने कहा कि खशोगी हमेशा से अमेरिका का समर्थन करते थे, क्योंकि ये एक ऐसी जगह है, जहां सच बोला जा सकता है। लेकिन जमाल को अमेरीका की प्रतिक्रिया देखकर निराशा हुई होगी। 

बता दें खशोगी की हत्या से ना केवल प्रेस की स्वतंत्रता के खतरे में होने की बात उठी थी, बल्कि मानव अधिकार कार्यकर्ताओं ने भी इस हत्या की काफी निंदा की थी। दुनियाभर के नेताओं, यहां तक कि अमेरिकी सीनेटरों ने भी इस हत्या के प्रति दुख व्यक्त किया था। 

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इस मामले में ना केवल सीआईए की जांच के निष्कर्ष पर सवाल उठाया बल्कि उन्होंने मध्य पूर्व के अपने सहयोगी सऊदी पर कोई जुर्माना भी नहीं लगाया।

सीआईए ने कहा था कि खशोगी की हत्या का आदेश सऊदी राजकुमार मोहम्मद बिन सलमान ने ही दिया था। इस बात के सीआईए के पास सबूत भी हैं। बीते साल अक्तूबर में उनकी इस्तांबुल स्थित सऊदी वाणिज्य दूतावास में हत्या कर दी गई थी। खशोगी की मंगेतर का कहना है कि सऊदी ने उनसे अभी तक संपर्क नहीं किया है। उन्होंने मुआवजा देने की बात भी नहीं की है।

केंगिज आगे कहती हैं कि उन्होंने खशोगी की मृत्यु के बाद तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तैयप एर्दोगन के साथ बातचीत की थी। जिसमें उन्होंने सऊदी राजकुमार द्वारा उत्पन्न खतरे को लेकर चेतावनी दी थी। एर्दोगन ने उनसे कहा था, "हम जिसका सामना कर रहे हैं, वह एक सामान्य देश नहीं है, एक सामान्य नेता नहीं है।" इस मामले में वाशिंगटन में सऊदी दूतावास और व्हाइट हाउस ने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया है। 

यह भी पढ़े- खशोगी हत्या मामला: सऊदी प्रिंस को अमेरिकी सीनेटर ने बताया 'क्रेजी और खतरनाक'

तुर्की और सऊदी अरब प्रतिद्वंद्वी हैं, और एर्दोगन की सरकार ने गुस्सा जाहिर किया था कि सऊदी उनकी धरती पर अपने नागरिकों को कैसे मार सकता है। खशोगी अमेरिकी निवासी थे। वह वाशिंगटन पोस्ट के लिए स्तंभ लिखते थे। उन्होंने सऊदी अरब के राजकुमार सलमान के शासन और उनके बेटे मोहम्मद बिन सलमान के खिलाफ भी कई लेख लिखे थे।

तुर्की के राष्ट्रपति ने सऊदी पत्रकार जमाल खशोगी की हत्या को लेकर एक खुलासा किया था। उनके मुताबिक खशोगी की हत्या मामले में जो ऑडियो उनके पास है, उसमें एक हत्यारे ने कहा है,"मुझे पता है कैसे काटना है।" ये ऑडियो तुर्की ने अमेरिका और यूरोपियन अधिकारियों के साथ साझा की थी। एर्दोगन ने रियाध की भी आलोचना की थी कि इस्तांबुल में सऊदी वाणिज्य दूतावास में खशोगी की हत्या कैसे हुई। खशोगी अपनी मंगेतर से शादी करने वाले थे और इसी के लिए वह दस्तावेज लेने दूतावास गए थे। 

खशोगी की हत्या के बाद पूरी दुनिया में सऊदी के राजकुमार सलमान की आलोचना की गई। वहीं सऊदी खुद पर लगे आरोपों से इनकार करता रहा है। केंगिज कहती हैं कि उन्हें शुरू से ही खशोगी की जान पर खतरा लगता था। अब वह लंदन में रह रही हैं। 
विज्ञापन

Recommended

फैशन इंडस्ट्री दे रही है खास मौके, इन्वर्टिस संग करें खुद को तैयार
Invertis university

फैशन इंडस्ट्री दे रही है खास मौके, इन्वर्टिस संग करें खुद को तैयार

अपनी संतान की लंबी आयु के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में संतान गोपाल पाठ और हवन करवाएं - 24 अगस्त 2019
Astrology Services

अपनी संतान की लंबी आयु के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में संतान गोपाल पाठ और हवन करवाएं - 24 अगस्त 2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

World

चीन में सड़कों पर उतरे लोकतंत्र समर्थक प्रदर्शनकारी, प्रदर्शन रैली में लाखों लोग हुए शामिल

हांगकांग में लोकतंत्र समर्थक कार्यकर्ताओं के आह्वान पर रविवार को लाखों लोगों ने एक पार्क से मार्च निकाला और प्रमुख सड़क को जाम कर दिया।

18 अगस्त 2019

विज्ञापन

उत्तराखंड में बारिश का कहर, नदिया बनीं सैलाब, हर तरफ तबाही का मंजर

बारिश से उत्तराखंड में तबाही का आलम है। बारिश की वजह से सड़कें टूट चुकी हैं। पुल के ऊपर से पानी बह रहा है। कई पहाड़ दरक गए हैं। मकान के अंदर घुसकर पानी ने तबाही मचाई है।

18 अगस्त 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree