बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW

उम्मीद: इस्राइल में अब मास्क पहनने की जरूरत नहीं, ऐसा आदेश देने वाला दुनिया का पहला देश!

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला, येरूसलम Published by: Tanuja Yadav Updated Tue, 20 Apr 2021 10:13 AM IST

सार

कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच इस्राइल से बहुत बड़ी राहत की खबर सामने आ रही है। अपनी जनसंख्या के 81 फीसदी हिस्से को वैक्सीन लगाने के बाद सरकार ने लोगों को मास्क ना पहनने का आदेश दिया है। 
विज्ञापन
इस्राइल में लोगों को मास्क ना पहनने के आदेश
इस्राइल में लोगों को मास्क ना पहनने के आदेश - फोटो : social media

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें

विस्तार

चीन से फैला कोरोना वायरस आज दुनिया में कोहराम मचा रहा है। साल 2019 के अंत में कोरोना वायरस चीन के वुहान शहर से फैला। ये संक्रमण इतनी खतरनाक गति से फैला कि इसने करोड़ों लोगों को अपनी चपेट में लिया और लाखों लोगों ने इसके आगे दम तोड़ दिया। 
विज्ञापन


कोरोना से बचने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन ने वैक्सीन बनने से पहले मास्क पहनने को एक कारगार हथियार बताया। आज का दौर ऐसा है कि हर किसी को मास्क पहनना जरूरी है लेकिन इस्राइल दुनिया का पहला ऐसा देश बनने जा रहा है, जहां मास्क को ना पहनने के आदेश दे दिए गए हैं। 


जी हां, इस्राइल में प्रशासन ने लोगों को मास्क ना पहनने के आदेश दिए हैं। इस्राइल में 81 फीसदी जनता को कोरोना की वैक्सीन लग चुकी है, जिसके बाद प्रशासन ने यह फैसला सुनाया है। सरकार के इस आदेश के बाद लोगों ने अपने चेहरे से मास्क उतार फेंका और सोशल मीडिया पर अपनी खुशी जाहिर की। 





इस्राइल में 16 साल से अधिक उम्र के 81 फीसदी लोगों को कोरोना के दोनों टीकें लग चुके हैं। वहीं वैक्सीनेशन में तेजी से यहां कोरोना संक्रमण और अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों की संख्या में तेज गिरावट आई है। हालांकि इजरायल में सख्ती अभी भी लागू है। विदेशियों की एंट्री और बिना टीका लगवाए लोगों का प्रवेश सीमित है। 

स्वास्थ्य मंत्रालय ने जानकारी दी कि इस्राइल ने देश में नए भारतीय वेरिएंट के सात केसों का पता लगाया है और इनकी जांच की जा रही है। प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि कोरोना वायरस के जीतने के मामलों में इस समय हम दुनिया का नेतृत्व कर रहे हैं। हालांकि उन्होंने आगे कहा कि अभी कोरोना से लड़ाई पूरी तरह खत्म नहीं हुई है और यह आगे भी लौट सकता है। 

बता दें कि इस्राइल की आबादी एक करोड़ से कम है और यहां अब तक कुल आठ लाख से ज्यादा मामले ही निकले हैं, वहीं छह हजार से ज्यादा लोगों की कोविड की वजह से मौत हुई है। 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X