लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   World ›   Imrans bad days coming! Pakistans joint opposition bringing no-confidence motion on March 28, General Bajwa will remain neutral

इमरान के बुरे दिन आ रहे!: 28 मार्च को साझा विपक्ष ला रहा अविश्वास प्रस्ताव, जनरल बाजवा रहेंगे तटस्थ

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला, इस्लामाबाद Published by: सुरेंद्र जोशी Updated Fri, 18 Mar 2022 10:09 PM IST
सार

पाकिस्तान सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने मौजूदा सियासी संकट के दौरान तटस्थ रहने का फैसला कर पीएम इमरान खान की मुश्किलें और बढ़ा दी हैं। 

imran khan and  general bajwa
imran khan and general bajwa - फोटो : amar ujala
विज्ञापन

विस्तार

पाकिस्तान राजनीतिक संकट की ओर बढ़ता प्रतीत हो रहा है। कहा जा रहा है कि प्रधानमंत्री इमरान खान की उल्टी गिनती शुरू हो गई है। साझा विपक्ष पाक नेशनल असेंबली 'संसद' में उनके खिलाफ 28 मार्च को अविश्वास प्रस्ताव ला रहा है। इसे देखते हुए इमरान भड़कने लगे हैं। उन्होंने अविश्वास प्रस्ताव से पहले 27 मार्च को 10 लाख लोगों के साथ इस्लामाबाद के 'डी चौक' में प्रदर्शन का एलान कर दिया है। 



उधर, पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने मौजूदा सियासी संकट के दौरान तटस्थ रहने का फैसला कर पीएम इमरान खान की मुश्किलें और बढ़ा दी हैं। रिपोर्ट के मुताबिक इस बार इमरान खान की मुसीबत इसलिए भी बड़ी है, क्योंकि  साझा विपक्ष के अविश्वास प्रस्ताव का विरोध उनकी पार्टी पाकिस्तान तहरीके इंसाफ (PTI) से अलग हुआ धड़ा भी इसका समर्थन कर रहा है। इसलिए माना जा रहा है कि इमरान की उल्टी गिनती शुरू होने का वक्त आ गया है। रावलपिंडी स्थित सैन्य मुख्यालय भी इस बार देश के ताजा सियासी संकट के दौरान चुप्पी साधे रखेगा। इससे लगता है कि पीएम इमरान खान यह घाटी पार नहीं कर सकेंगे। 


दो विकल्पों पर विचार कर रहा पाकिस्तान का विपक्ष
पीएम इमरान खान के तमाम झांसों और जोड़-तोड़ के बीच पाकिस्तान से आ रही खबरों से संकेत मिलता है कि विपक्ष दो विकल्पों पर विचार कर रहा है। एक तो यह कि पाकिस्तान मुस्लिम लीग (नवाज) शहबाज शरीफ के नेतृत्व में एक अंतरिम सरकार बनाए और आम चुनावों का आह्वान किया जाए। दूसरा पांच साल के लिए राष्ट्रीय सरकार बनाना, क्योंकि पाकिस्तान गंभीर आर्थिक संकट से जूझ रहा है। समझा जाता है कि शाहबाज के भाई और निर्वासित नेता नवाज शरीफ जल्द चुनाव के पक्ष में हैं।

सियासी संकट के बीच इमरान खान हताश होकर भड़कने लगे हैं। उन्होंने साझा विपक्ष के नेताओं को भी भला-बुरा कहना शुरू कर दिया। उन्होंने चेतावनी दी कि वह अविश्वास प्रस्ताव के एक दिन पहले 27 मार्च को 10 लाख लोगों के साथ इस्लामाबाद के 'डी चौक' (डेमाक्रेसी चौक) में प्रदर्शन करेंगे। 

इमरान खान के खुद के 24 सांसदों ने दी बागी होने की धमकी
पाक पीएम इमरान खान को अपनी पार्टी के भीतर से बगावत का सामना करना पड़ा, लगभग 24 पीटीआई सांसदों ने संसद में विपक्ष द्वारा पेश किए गए अविश्वास प्रस्ताव पर उनके खिलाफ वोट देने की खुलेआम धमकी दी।

पीटीआई के सदस्यों ने सिंध हाउस पर धावा बोला
पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के दो दर्जन असंतुष्ट सांसदों से नाराज पार्टी के सदस्यों ने शुक्रवार को यहां सिंध हाउस पर धावा बोल दिया। प्रधानमंत्री इमरान खान की पार्टी पीटीआई के इन सांसदों को पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) द्वारा संचालित सिंध हाउस में रखा गया है। टेलीविजन फुटेज में पीटीआई के दर्जनों कार्यकर्ताओं को सिंध हाउस में घुसते हुए और असंतुष्ट सांसदों के समूह के खिलाफ नारे लगाते हुए देखा गया है। पीटीआई के करीब दो दर्जन असंतुष्ट सांसदों ने विपक्ष द्वारा संसद में पेश किए गए अविश्वास प्रस्ताव पर खान के खिलाफ मतदान करने की धमकी दी है।

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00