विज्ञापन
विज्ञापन

अमेरिका में ‘हाऊडी, मोदी’ हाउसफुल, इवेंट के लिए 50 हजार लोगों ने कराया पंजीकरण

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला, ह्यूस्टन Updated Thu, 22 Aug 2019 06:19 AM IST
एससीओ समिट में पीएम मोदी(फाइल फोटो)
एससीओ समिट में पीएम मोदी(फाइल फोटो) - फोटो : @MEAIndia Twitter
ख़बर सुनें

खास बातें

  • भारत तक ही सीमित नहीं है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता 
  • अमेरिका में होने वाला पीएम मोदी का कार्यक्रम पहले ही ‘हाउसफुल’
  • टीवी और इंटरनेट पर भी ‘हाऊडी, मोदी’ कार्यक्रम का सीधा प्रसारण 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता महज भारत तक ही सीमित नहीं है। दूसरे देशों में भी उनकी फैन फॉलोइंग जबरदस्त होती जा रही है। इसका उदाहरण अगले महीने अमेरिका के ह्यूस्टन में होने जा रहे ‘हाऊडी, मोदी’ कार्यक्रम के आयोजन से मिल रहा है। मुफ्त प्रवेश वाले इस सामुदायिक कार्यक्रम की सभी सीटें महीने भर पहले ही पंजीकृत हो गई हैं। साथ ही टीवी और इंटरनेट पर भी इस कार्यक्रम का सीधा प्रसारण भारत और अमेरिका में करीब एक अरब लोगों द्वारा देखे जाने का अनुमान लगाया जा रहा है।
विज्ञापन
इस कार्यक्रम के आयोजनकर्ता एनजीओ टेक्सास इंडिया फोरम (टीआईएफ) ने बुधवार को कहा, सितंबर में एनआरजी स्टेडियम में आयोजित होने वाले इस विशाल सामुदायिक सम्मेलन में पीएम मोदी को सुनने के लिए 50 हजार से ज्यादा समर्थक आने की उत्सुकता दिखा चुके हैं। आयोजकों ने यह भी कहा कि कार्यक्रम में आने के इच्छुक लोगों का अब भी पंजीकरण किया जा रहा है। 

नए पंजीकरण वाले लोगों को वेटिंग लिस्ट में नंबर दिया जा रहा है। विश्वविद्यालयों के छात्रों के लिए विशेष आवंटन व्यवस्था के तहत 29 अगस्त तक उपस्थिति पंजीकरण खुला रहेगा। बता दें कि यह मोदी का पीएम के तौर पर अमेरिका में तीसरा सार्वजनिक संबोधन होगा। इससे पहले मोदी ने 2014 में न्यूयॉर्क के मेडिसन स्क्वॉयर गार्डन और 2016 में सिलिकॉन वैली में भारतीय मूल के लोगों को संबोधित किया था। इन दोनों ही कार्यक्रमों में 20 हजार से ज्यादा लोगों की उपस्थिति रही थी।

भारत के लिए क्यों खास है ह्यूस्टन

  • 1.3 लाख भारतीय मूल के अमेरिकी रहते हैं अमेरिका के चौथे सबसे बड़े शहर ह्यूस्टन में
  • 01 नंबर पर है ह्यूस्टन ऊर्जा सुरक्षा संबंधी उद्योग के लिहाज से पूरी दुनिया में
  • 04 नंबर पर है ह्यूस्टन के ट्रेडिंग पार्टनरों में ब्राजील, चीन, मेक्सिको के बाद भारत
  • 4.8 अरब डॉलर (34,278 करोड़ रुपये) था 2009 से 2017 तक प्रतिवर्ष भारत-ह्यूस्टन में कारोबार
  • 7.2 अरब डॉलर (51,471 करोड़ रुपये) हो गया था 2018 में बढ़कर यह कारोबार
क्या होता है हाऊडी
बता दें कि ‘हाऊडी’ दक्षिण पश्चिम अमेरिका में सामान्य तौर पर उपयोग किया जाने वाला मित्रतापूर्ण संबोधन है, जिसका अर्थ होता है ‘हाऊ डू यू डू? यानी आप कैसे हैं?’

प्रधानमंत्री मोदी को न्यूयॉर्क में 27 सितंबर को आयोजित होने वाली संयुक्त राष्ट्र महासभा में शामिल होना है। इससे पहले वह अग्रणी उद्योगपतियों, राजनेताओं और सामुदायिक नेताओं से मिलने के लिए ह्यूस्टन पहुंचेंगे। इस दौरान वह ‘हाऊडी, मोदी’ सम्मेलन में हिस्सेदारी करेंगे, जिसकी टैगलाइन ‘शेयर्ड ड्रीम्स, ब्राइट फ्यूचर्स’ रखी गई है। 

इस कार्यक्रम के आयोजन के जरिए अमेरिका की तरक्की और दोनों देशों के बीच संबंधों को मजबूत करने में दिए गए भारतीय मूल के निवासियों के योगदान को हाईलाइट करना है। मोदी का ह्यूस्टन दौरा इस लिहाज से भी खास है कि इस शहर को दुनिया की एनर्जी कैपिटल कहा जाता है और ऊर्जा सुरक्षा प्रधानमंत्री के लिए प्राथमिकता वाले क्षेत्रों में से एक है।
 
विज्ञापन
आगे पढ़ें

यूएस में किसी विदेशी नेता के लिए नहीं जुटी इतनी भीड़

विज्ञापन

Recommended

OPPO के Big Diwali Big Offers से होगी आपकी दिवाली खूबसूरत और रौशन
Oppo Reno2

OPPO के Big Diwali Big Offers से होगी आपकी दिवाली खूबसूरत और रौशन

कराएं दिवाली की रात लक्ष्मी कुबेर यज्ञ, होगी अपार धन, समृद्धि  व्  सर्वांगीण कल्याण  की प्राप्ति : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

कराएं दिवाली की रात लक्ष्मी कुबेर यज्ञ, होगी अपार धन, समृद्धि व् सर्वांगीण कल्याण की प्राप्ति : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Rest of World

इन शहरों में कार चलाना है मना

जहां एक तरफ प्रदूषण दुनिया को अपनी चपेट में ले रहा है वहीं हमारी ही दुनिया में कुछ शहर ऐसे हैं जो कार का इस्तेमाल ना करके इस पॉल्यूशन को मात देने की कोशिश भी कर रहे हैं।

21 अक्टूबर 2019

विज्ञापन

जम्मू-कश्मीर: तंगधार में पाकिस्तान की तरफ से गोलाबारी में कई घर तबाह, लोगों ने बताया आंखों देखा हाल

पीओके में आतंकी कैंपों पर रविवार को भारतीय सेना की तरफ से कारावाई के बाद पाकिस्तान की तरफ से कुपवाड़ा जिले के तंगधार सेक्टर में भारी गोलाबारी की गई। जिसमें सीमावर्ती क्षेत्र में रहने वाले लोगों के कई घर तबाह हो गए। 

21 अक्टूबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree