विज्ञापन

सऊदी अरब की औरतें अब सेना में भी आएंगी, महिलाओं को लेकर एक और सुधारवादी कदम

न्यूयॉर्क टाइम्स न्यूज सर्विस, रियाद Updated Tue, 27 Feb 2018 03:59 AM IST
Saudi Arabia's women will now also come in the army, another reformist step towards women
विज्ञापन
ख़बर सुनें
महिलाओं पर सबसे ज्यादा अंकुश लगाए रखने वाले देश सऊदी अरब ने पिछले साल देश में महिला ड्राइविंग लाइसेंस जारी करने की घोषणा के बाद से कई सुधारवादी कदम उठाए हैं। इन्हीं के तहत सऊदी अरब ने अब महिलाओं के लिए सेना में नौकरियों का दरवाजा खोलने का साहसिक कदम उठाया है। इससे पहले सऊदी अरब ने स्टेडियम में बिना पुरुष अकेली महिला को फुटबाल मैच देखने और फिर विदेशों से अकेली महिला को सऊदी अरब आने मंजूरी दी थी।
विज्ञापन
महिलाओं को लेकर लगातार सुधारवादी कदम उठा रहा है रूढ़िवादी देश 

इस बार सऊदी अरब ने एक और बड़ा फैसला लिया और कहा कि महिलाओं के लिए सेना की नौकरी स्वैच्छिक होंगी। इसका मतलब यह हुआ कि महिलाओं के सऊदी सेना में जाना अनिवार्य श्रेणी में नहीं माना जाएगा। सऊदी प्रेस एजेंसी ने पुष्टि की है कि जन सुरक्षा निदेशालय के मुताबिक महिलाओं को रियाद, मक्का, मदीना, कासिम, असीर, अल-बहा और शरकियाह में नियुक्ति दी जाएगी।

सऊदी अरब में ये सारे सामाजिक सुधार क्राउन प्रिंस मोहम्मद सलमान के नेतृत्व में हो रहे हैं। महिलाओं की सेना में नियुक्ति के लिए उनका 25 से 35 साल के बीच सऊदी का मूल निवासी होना जरूरी होगा। सैन्य सेवाओं के लिए महिलाओं की शैक्षिक योग्यता हाई स्कूल डिप्लोमा निर्धारित की गई है। 

हालांकि सऊदी शूरा काउंसिल ने सुझाव दिया था कि महिलाओं के लिए साल में तीन माह सेना में नौकरी अनिवार्य कर दी जाए, लेकिन इस पर काउंसिल में मतभेद उभर आए और इस पर सुधार के बाद नौकरी का प्रस्ताव लाया गया।

महिलाओं पर लगी थीं सबसे अधिक पाबंदियां

सऊदी अरब में शाही परिवार और सभी मजहबी संस्थाएं वहाबियत का पालन करती हैं जो महिलाओं को सख्त इस्लामी नियमों में बांधकर रखते हैं। यहां महिलाओं को न तो अकेले सफर करने की इजाजत थी और न ही रेस्त्रां, कैफे या स्टेडियम में बिना पुरुष सदस्य के अकेले बैठने की अनुमति थी। 

महिलाओं को सिर्फ परिवारों वाले कैबिन में ही पति या परिजनों के साथ बैठने की अनुमति मिली हुई थी। लेकिन दिसंबर-2017 में ही सिनेमाघरों पर से ङी दशकों पुरानी पाबंदी हटा ली गई ताकि क्राउन प्रिंस के दृष्टिकोण का पालन करने के लिए देश के मनोरंजन उद्योग में तेजी आ सके।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Gulf Countries

दुबई में जहाज पर नौ महीने से फंसे आठ भारतीय नाविक

आठ भारतीय नाविक पिछले नौ महीने से बिना वेतन के दुबई में एक जहाज में फंसे हुए हैं। एक मीडिया खबर में मंगलवार को यह जानकारी दी गई। नाविकों के पास संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) का वीजा नहीं है। 

26 सितंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

BHU: रेजीडेंट डॉक्टरों और छात्रों की झड़प के बाद प्रशासन ने दिया अजीब आदेश

बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी कैम्पस में रेजीडेंट डॉक्टरों और हॉस्टल में रहने वाले छात्रों के बीच हुए संघर्ष के बाद यूनिवर्सिटी प्रशासन ने बेहद सख्त और अजीब आदेश दिया है। इस आदेश के खिलाफ अब छात्रों ने प्रदर्शन शुरू कर दिया है।

26 सितंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree