विज्ञापन

यूरोप को परमाणु समझौता बचाने के लिए चुकानी होगी कीमत : ईरान

एजेंसी, तेहरान Updated Mon, 20 Aug 2018 03:35 AM IST
1
1
ख़बर सुनें
ईरान के विदेश मंत्री मोहम्मद जवाद जरीफ ने कहा है कि यूरोप ने अभी तक यह नहीं दिखाया है कि वह परमाणु समझौता बचाने के लिए अमेरिका को नजरअंदाज करने की कीमत चुकाने को इच्छुक है। जरीफ ने कहा कि अमेरिकी प्रतिबंधों के दूसरे चरण के बाद यूरोपियन सरकारों ने ईरान के साथ तेल और बैंकिंग संबंध कायम रखने का प्रस्ताव रखा था।
विज्ञापन
विज्ञापन
जरीफ ने एक स्थानीय वेबसाइट से कहा कि वे आगे बढ़ चुके हैं, लेकिन हमारा मानना है कि यूरोप अभी तक अमेरिका का विरोध करने की कीमत चुकाने को तैयार नहीं है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने 2015 में हुए परमाणु समझौतों से मई में हाथ खींच लिए थे। अमेरिका ने इस महीने की शुरुआत में फिर से प्रतिबंध लगाने शुरू कर दिए हैं, जो दूसरे देशों को ईरान से व्यापार करने से रोकता है। 

यूरोप ने ईरान से परमाणु समझौते से होने वाले आर्थिक लाभों को जारी रखने की प्रतिबद्धता जताई थी, लेकिन अमेरिकी प्रतिबंधों के डर से उसकी कई बड़ी कंपनियों ने हाथ खींच लिए हैं। जरीफ ने कहा कि यूरोप ने कहा था कि परमाणु समझौता उनके लिए एक सुरक्षा उपलब्धि है, लिहाजा हर देश यहां निवेश कर सुरक्षा के लिए कीमत चुकाए। 

Recommended

क्या आप अपने करियर को लेकर उलझन में हैं ? समाधान पायें हमारे अनुभवी ज्योतिषिचर्या से
ज्योतिष समाधान

क्या आप अपने करियर को लेकर उलझन में हैं ? समाधान पायें हमारे अनुभवी ज्योतिषिचर्या से

जानें क्यों होता है बार-बार आर्थिक नुकसान? समाधान पायें हमारे अनुभवी ज्योतिषिचर्या से
ज्योतिष समाधान

जानें क्यों होता है बार-बार आर्थिक नुकसान? समाधान पायें हमारे अनुभवी ज्योतिषिचर्या से

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Gulf Countries

दुनिया का जाना-माना रईस हो गया है कर्जदार, अब नीलाम होगी संपत्ति

साने ने 2009 में दिवालिया होने के बाद, कई मौकों के बावजूद किसी का पैसा नहीं लौटाया।

17 सितंबर 2018

विज्ञापन

न्यूजीलैंड के शहर क्राइस्टचर्च में बंदूकधारियों ने बरसाई अंधाधुंध गोलियां, देखिए रिपोर्ट

न्यूजीलैंड के शहर क्राइस्टचर्च में स्थित दो मस्जिद में बंदूकधारियों ने अंधाधुंध गोलियां बरसाईं हैं। जिसमें कम से कम नौ लोगों के मारे जाने की खबर है।

15 मार्च 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree