विज्ञापन

मिस्र हिंसक आंदोलन: प्रतिबंधित मु्स्लिम ब्रदरहुड के 75 सदस्यों को फांसी, 47 को उम्रकैद

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला Updated Sat, 08 Sep 2018 09:37 PM IST
Egypt: 75 members of Muslim Brotherhood hanged, 47 sentenced to life
विज्ञापन
ख़बर सुनें
मिस्र की एक अदालत ने प्रतिबंधित मुस्लिम ब्रदरहुड के 75 सदस्यों को फांसी की सजा सुनाई है। वहीं, ब्रदरहुड के नेता मोहम्मद बेदी सहित 47 को उम्रकैद की सजा दी है। शॉकन के नाम से मशहूर फोटो जर्नलिस्ट महमूद अबू जैद को पांच साल जेल की सजा सुनाई है। हालांकि, वह यह सजा काट चुके हैं। सभी को मिस्र 2013 में हुए हिंसक आंदोलन के दौरान हत्या करने और संपत्तियों को नुकसान पहुंचाने का दोषी पाया गया है।
विज्ञापन
इससे पहले इस मामले में मोहम्मद बेदी और अबू जैद समेत 739 लोगों पर मुकदमा चलाया गया था। दरअसल, सेना ने 2013 में तत्कालीन राष्ट्रपति मोहम्मद मुर्सी को पद से हटा दिया था, जिसके बाद अब्देल फतेह अल सीसी मिस्र के राष्ट्रपति बने थे। इससे नाराज ब्रदरहुड के समर्थकों ने हिंसक आंदोलन कर दिया था। 

फोटो जर्नलिस्ट अबू जैद को इसी साल यूनेस्को वर्ल्ड फ्रीडम सम्मान से नवाजा गया था। उन्हें 2013 में सुरक्षा बलों और मोहम्मद मुर्सी के समर्थकों के बीच हो रही झड़प को कवर करने के दौरान गिरफ्तार किया गया था। उन्हें हत्या और प्रतिबंधित संस्था के सदस्य होने के आरोप में गिरफ्तार किया गया। 

माना जा रहा है कि उनकी सजा को मौत की सजा में बदला जा सकता है। उनके वकील करीम अब्देलरादी ने कहा कि पांच साल की जेल की सजा वह पहले ही काट चुके हैं। कुछ दिन में वह जेल से रिहा हो सकते हैं।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Gulf Countries

कच्चे तेल का घटेगा निर्यात, गिरते दामों के कारण वैश्विक रूप से प्रतिदिन होगी कटौती

सऊदी अरब के ऊर्जा मंत्री ने सोमवार को कहा कि वैश्विक रूप से तेल निर्यात में 10 लाख बैरल प्रतिदिन कटौती करने का फैसला लिया गया है। जबकि सऊदी दिसंबर से तेल निर्यात में पांच लाख बैरल प्रतिदिन कटौती करने का फैसला पहले ही ले चुका है।

13 नवंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

देवउठनी एकादशी 2018 : शुभ मुहूर्त, व्रत कथा और अचूक उपाय

एस्ट्रो फ्रेंड संतोष संतोषी से जानिए क्या है देवउठनी एकादशी की महिमा और इस दिन आखिर किस प्रकार भगवान विष्णु, तुलसी और शालिग्राम की आराधना करनी चाहिए।

18 नवंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree