लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   World ›   European Union countries approve climate measures after long talks agree on an agreement to eliminate carbon emissions from new cars by 2035

European Union on Climate Change: ईयू देश जलवायु उपायों पर सहमत, 2035 तक नई कारों से कार्बन उत्सर्जन खत्म करने वाले समझौते पर सहमति

एजेंसी, ब्रुसेल्स। Published by: देव कश्यप Updated Thu, 30 Jun 2022 01:18 AM IST
सार

यूरोपीय आयोग के उपाध्यक्ष एवं हरित समझौते के प्रभारी फ्रांसिस टिम्मरमैन ने लक्जमबर्ग में बैठक के बाद कहा, यह लंबा, लेकिन जलवायु कार्रवाई के लिए अच्छा दिन रहा। परिषद का फैसला ईयू के हरित समझौते पर पहुंचने की दिशा में बड़ा कदम है।

यूरोपीय यूनियन
यूरोपीय यूनियन - फोटो : social Media
विज्ञापन

विस्तार

यूरोपीय संघ (ईयू) के 27 सदस्य देश लंबी वार्ता के बाद जलवायु संबंधी नियमों को कड़ा करने को लेकर एक समझौते पर पहुंच गए हैं। इसके तहत 2035 तक नई कारों से कार्बन उत्सर्जन को खत्म किया जाएगा। सभी सदस्य उस मसौदा कानून पर भी सहमत हो गए जिसका लक्ष्य 1990 की तुलना में 2030 में ईयू ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन में 55 फीसदी की कमी करना है। 



इससे पहले 40 प्रतिशत की कटौती पर सहमति बनी थी। यूरोपीय आयोग के उपाध्यक्ष एवं हरित समझौते के प्रभारी फ्रांसिस टिम्मरमैन ने लक्जमबर्ग में बैठक के बाद कहा, यह लंबा, लेकिन जलवायु कार्रवाई के लिए अच्छा दिन रहा। परिषद का फैसला ईयू के हरित समझौते पर पहुंचने की दिशा में बड़ा कदम है। ईयू के सांसद महत्वकांक्षी लक्ष्य का समर्थन कर रहे हैं और विधायी पैकेज की अंतिम मंजूरी के लिए अब संसद को विभिन्न विवरणों पर सदस्य देशों की सरकारों के साथ मतभेदों को दूर करने की जरूरत होगी।


फ्रांसीसी ऊर्जा परिवर्तन मंत्री एग्नेस पैनियर-रनचेर ने कहा, परिषद पैकेज को संपन्न करने के लिए ईयू के साथ वार्ता के लिए अब तैयार है। इससे यूरोपीय संघ जलवायु परिवर्तन से लड़ने में पहले से कहीं अधिक अग्रणी बन गया है। नया नियम 27 देशों में उस वाहनों की बिक्री रोक देगा जो पेट्रोल या डीजल से चलती हैं।

इलेक्ट्रिक वाहनों को देंगे बढ़ावा
ईयू 2050 तक गाड़ियों से कार्बन उत्सर्जन को बेहद कम करना चाहता है। इसके लिए वह इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा दे रहा है, लेकिन संगठन के बाहरी ऑडिटर की पिछले साल की रिपोर्ट बताती है कि सदस्य देशों में चार्जिंग स्टेशनों की कमी है। इसके लिए पैकेज में कार्बन बाजार में सुधार की जरूरत पर भी बल दिया गया।

ईयू में सुगंधित उत्तेजक तंबाकू उत्पादों पर प्रतिबंध का प्रस्ताव
यूरोपीय यूनियन की कार्यकारी शाखा ने कैंसर से निपटने की योजना के तहत सुगंधित उत्तेजक तंबाकू उत्पादों पर प्रतिबंध का प्रस्ताव दिया है। इसमें कई बेस्वाद उत्पाद भी शामिल किए जाएंगे। यूरोपीय आयोग का कहना है कि सभी 27 देशों में इन उत्पादों की खपत बढ़ती जा रही है।

आयोग के हाल के अध्ययन में पता चला था कि पांच से ज्यादा देशों में उत्तेजक तंबाकू उत्पादों की बिक्री में 10 फीसदी से ज्यादा इजाफा हुआ। वैसे तंबाकू उत्पादों की बिक्री में इसकी हिस्सेदारी महज 2.5 प्रतिशत है। बैन सभी बेस्वाद उत्पादों के बजाय केवल उत्तेजक तंबाकू उत्पादों पर लागू होगा। कई ई-सिगरेट में केवल निकोटीन होता है। फेफड़ों के कैंसर के 10 में से नौ मामलों का कारण तंबाकू होता है। ईयू की स्वास्थ्य एवं खाद्य सुरक्षा आयुक्त स्टेला क्यारीकिडेस ने कहा, नागरिकों का स्वास्थ्य और जीवन बचाने के लिए हम स्मोकिंग को अनाकर्षक बनाना चाहते हैं। ईयू में हर साल कैंसर से 13 लाख लोगों की मौत होती है और 35 लाख नए मरीज सामने आते हैं।

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00