लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   World ›   Congolese government ups toll in massacre to 272 civilians

Congo: कांगो सरकार ने मृतकों की संख्या बढ़ाई, कहा- किशिशे शहर में हुए नरसंहार में 272 लोगों की हुई थी मौत

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला, किंशासा। Published by: देव कश्यप Updated Tue, 06 Dec 2022 03:45 AM IST
सार

कांगो की सरकार ने एम-23 विद्रोही समूह पर हत्याओं का आरोप लगाया है। हालांकि, एम-23 विद्रोही समूह ने इस आरोप का खंडन किया है। सरकार ने यह भी कहा कि विद्रोहियों को रवांडन सेना  के सदस्यों का समर्थन प्राप्त है।

कांगो (सांकेतिक तस्वीर)।
कांगो (सांकेतिक तस्वीर)। - फोटो : सोशल मीडिया
विज्ञापन

विस्तार

कांगो के किशिशे शहर में पिछले सप्ताह हुए नरसंहार में 272 लोगों की मौत हो गई। समाचार एजेंसी रॅायटर्स के मुताबिक, डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ कांगो की सरकार ने सोमवार को कहा कि पिछले सप्ताह किशिशे के पूर्वी शहर में एक नरसंहार में 272 नागरिक मारे गए थे, मरने वालों की संख्या पिछले अनुमान 50 से बढ़ गई है। 



कांगो की सरकार ने एम-23 विद्रोही समूह पर हत्याओं का आरोप लगाया है। हालांकि, एम-23 विद्रोही समूह ने इस आरोप का खंडन किया है। सरकार ने यह भी कहा कि विद्रोहियों को रवांडन सेना (Rwandan army) के सदस्यों का समर्थन प्राप्त है। कांगो की सरकार द्वारा बार-बार यह आरोप लगाया जाता रहा है, जिसका रवांडा ने लगातार खंडन किया है। बता दें कि कांगो सरकार की सेना और एम23 (तुत्सी के नेतृत्व वाली मिलिशिया) के बीच देश के पूर्वी क्षेत्रों में महीनों से लड़ाई चल रही है।


उद्योग मंत्री ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताई मृतकों की संख्या
कथित नरसंहार 29 नवंबर को उत्तरी किवु प्रांत के किशिशे में हुआ था। मृतकों की संख्या की घोषणा कांगो के उद्योग मंत्री जूलियन पालुकु (Julien Paluku) ने सरकार के प्रवक्ता पैट्रिक मुयाया के साथ एक प्रेस वार्ता में की। मुयाया ने कहा कि मैं हमले का ब्योरा नहीं दे सकता। लेकिन उन्होंने कहा कि अटॉर्नी जनरल ने जांच शुरू कर दी है और हम जांचकर्ताओं के नतीजों का इंतजार कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस बारे में मुझे सिर्फ इतना पता है कि एक एडवेंटिस्ट चर्च और एक अस्पताल में बच्चों को मार दिया गया था।

संघर्ष विराम को लेकर एम23 को जारी किया गया था अल्टीमेटम
संयुक्त राष्ट्र ने कहा कि पिछले हफ्ते उसे किशिशे में एम23 और स्थानीय मिलिशिया (नागरिक सेना) के बीच संघर्ष के दौरान बड़ी संख्या में नागरिकों के मारे जाने की रिपोर्ट मिली थी, लेकिन आंकड़े नहीं दिए गए। अंगोला में हाल ही में हुई बैठक में स्थानीय नेताओं ने संघर्ष विराम को लेकर अल्टीमेटम जारी करते हुए कहा था कि हाल के महीनों में एम23 ने जिन शहरों पर कब्जा कर लिया है, वहां से भी उसे हटना होगा, नहीं तो पूर्वी अफ्रीकी क्षेत्रीय बल इसमें हस्तक्षेप करेंगे।

संयुक्त राष्ट्र के विशेषज्ञों के एक समूह ने कहा कि इस साल उसके पास इस  बात के ठोस सबूत हाथ लगे थे कि रवांडा के सैनिक एम23 के साथ लड़ रहे थे और उसे हथियार और अन्य समर्थन प्रदान कर रहे थे। लेकिन रवांडा ने इस आरोप से इनकार कर दिया। वहीं, अपने ऊपर हुए हमले को लेकर एम23 ने कहा कि दुश्मन की गठबंधन सेना ने उसके 21 लड़ाकों को मार गिराया है जबकि आठ नागरिक गोलीबारी की घटना के दौरान मारे गए हैं।

बता दें कि कांगो और रवांडा के नेताओं ने संकट को हल करने का प्रयास करने के लिए कई बार मुलाकात की है। हाल ही में लुआंडा में वे संघर्ष विराम पर सहमत हुए थे, लेकिन उसके बाद भी लड़ाई जारी है।

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00