लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   World ›   Chinese people protest against Xi jinping Zero covid policy in Shanghai News in Hindi

China: शिनजियांग-बीजिंग होते हुए शंघाई तक पहुंचा सरकार विरोधी प्रदर्शन, कोरोना लॉकडाउन से देशभर में बिफरे लोग

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला, बीजिंग Published by: प्रांजुल श्रीवास्तव Updated Sun, 27 Nov 2022 10:49 AM IST
सार

चीन के शंघाई में शनिवार को कई प्रदर्शनकारी सड़क पर उतर आए और जीरो कोविड पॉलिसी वापस लेने की मांग की। दरअसल, इस प्रदर्शन की शुरुआत चीन के उरुमकी शहर में एक इमारत में आग लगने के बाद हुई, जिसमें 10 लोगों की जलकर मौत हो गई और नौ लोग घायल हो गए।

चीन में प्रदर्शन
चीन में प्रदर्शन - फोटो : ANI
विज्ञापन

विस्तार

चीन में सत्ताधारी पार्टी और राष्ट्रपति शी जिनपिंग के खिलाफ हो रहे विरोध प्रदर्शनों में आम जनता के साथ ही बीजिंग यूनिवर्सिटी से लेकर तमाम शिक्षण संस्थानों के छात्र भी शामिल हैं। विरोध कर रहे झाओ नामक प्रदर्शनकारी ने बताया कि उसके एक मित्र को भी पुलिस ने बुरी तरह पीटा और इलाज नहीं करने दिया।



उसने बताया कि प्रदर्शनकारी जिनपिंग इस्तीफा दो, कम्युनिस्ट पार्टी सत्ता छोड़ो, शिनजियांग से प्रतिबंध हटाओ, चीन से प्रतिबंध हटाओ, हम जांच नहीं, स्वतंत्रता चाहते हैं और प्रेस की स्वतंत्रता जैसे नारे लगा रहे हैं। कई जगह पुलिसकर्मियों और प्रदर्शनकारियों के बीच हिंसक झड़पें भी हुई हैं। पुलिस ने 1090 लोगों को गिरफ्तार किया है। बता दें कि इससे पहले 1989 में हुए लोकतंत्र समर्थक आंदोलन को चीन की कम्युनिस्ट पार्टी ने बेरहमी से कुचला था।


सोशल मीडिया से गायब हुए घटना से जुड़े पोस्ट
शुक्रवार अल सुबह उरुम्की के एक आपर्टमेंट में आग लग गई, जिससे बचने के लिए लोग बाहर भागे तो पुलिस ने कोविड नियमों का हवाला देकर जबरन वापस भेज दिया। इस कारण जलने से 10 लोगों की मौत हो गई और नौ लोग गंभीर रूप से झुलस गए। घटना के कई वीडियो पूरे चीन में तेजी से वायरल हुए और लोगों का गुस्सा फूट पड़ा। हालांकि, सरकार ने इससे जुड़े सभी वीडियो और पोस्ट सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से हटा दिए। 

10 लोगों के जिंदा जलने से भड़का गुस्सा
शिनजियांग के उरुम्की में कोविड से सुरक्षा के नाम पर शुक्रवार रात अधिकारियों ने 10 लोगों को जिंदा जला दिया। अधिकारी घटना को हादसा बताते रहे और कहा, किसी की मौत नहीं हुई। हालांकि, जब जनता का गुस्सा फूटा, तो अधिकारियों ने माफी मांगना शुरू कर दिया।

40,000 मिले नए संक्रमित
चीन में एक सप्ताह से लगातार कोविड संक्रमण के मामले बढ़ते जा रहे हैं। रविवार को 40 हजार संक्रमित मिले। हालांकि, राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग का दावा है कि इनमें से सिर्फ 3,709 केस ही ऐसे हैं, जिनमें संक्रमण के लक्षण दिख रहे हैं। आंकड़ों के मुताबिक, कोविड संक्रमण से चीन में अब तक 5,233 लोगों की मौत हुई है, जबकि कुल 14.5 लाख संक्रमित हैं। 

  • विशेषज्ञों का दावा है कि क्रूर जीरो कोविड नीति लागू करने के बाद भी चीन में वास्तविक संक्रमित व मृतक संख्या उसके आधिकारिक आंकड़ों से कम से कम पांच गुना ज्यादा है।
  • विज्ञापन

उरुम्की में 300 से ज्यादा गिरफ्तार
रेडियो फ्री एशिया की रिपोर्ट के मुताबिक रविवार को उरुम्की में हजारों लोग पुलिस अधिकारियों के सामने बैरियर तोड़ते हुए नारेबाजी करते हुए प्रशासनिक भवन की घेराबंदी करने पहुंचे। इस दौरान पुलिस ने उरुम्की में 300 से ज्यादा प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार किया है। इसके अलावा प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए लाठी, मिर्च का स्प्रे, टीयर गैर और वाटर कैनन का इस्तेमाल किया। पुलिस कार्रवाई में कई प्रदर्शनकारियों को गंभीर चोटें भी आई हैं। बताया जा रहा है कि पुलिस ने कई घायलों को भी गिरफ्तार किया है, जिन्हें इलाज की जरूरत है लेकिन पुलिस ने कैद कर लिया है।

गर्त में जाती अर्थव्यवस्था
चीन के लोग कोविड से ज्यादा इसकी रोकथाम के नाम पर लगने वाले लॉकडाउन, पूरे के पूरे शहर को अनिवार्य टेस्टिंग से गुजरने, अनिवार्य क्वारंटीन जैसे व्यवधानों ने परेशान हैं। लॉकडाउन और क्वारंटीन की वजह से लोग नौकरियों पर नहीं जा पा रहे हैं, जिससे उन्हें रोजमर्रा के खर्च चलाने में भी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। 

चीन के राष्ट्रीय सांख्यिकी ब्यूरो के आंकड़ों के मुताबिक देश के 41 बड़े उद्योगों के मुनाफे में तीन वर्ष में 23 फीसदी से ज्यादा की गिरावट आई है। इसके अलावा विनिर्माण क्षेत्र भी बुरी तरह प्रभावित हुआ है। एक साल में इस क्षेत्र का मुनाफ 13.4 फीसदी कम हुआ है। पेट्रोलियम उद्योग के मुनाफे में 70.9 फीसदी की बड़ी गिरावट भी आई है। 

प्रदर्शन के कई वीडियो आए सामने
चीन में सरकार की सख्त नीति का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों के कई वीडियो भी सामने आए हैं। एक वीडियो के मुताबिक उरुमकी शहर की सड़कों पर कई लोग दिखाई दे रहे हैं और ये लोग चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के नेतृत्व वाली कम्युनिस्ट पार्टी का विरोध कर रहे हैं। इसके अलावा लोग कह रहे हैं कि उन्हें पीसीआर टेस्ट नहीं चाहिए, उन्हें आजादी चाहिए। वे झिनजियांग शहर में लॉकडाउन वापस लेने की मांग कर रहे हैं। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो में बीजिंग के शिंघुआ यूनिवर्सिटी परिसर में बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारी विरोध करते हुए दिखाई दे रहे हैं। उनके हाथ सफेद कागज थे। लोग कम्युनिस्ट पार्टी के विरोध में नारे लगा रहे थे। प्रदर्शनकारी 'शी जिनपिंग गद्दी छोड़ो, कम्युनिस्ट पार्टी पद छोड़ो' जैसे नारे लगा रहे थे।

2019 के बाद सबसे अधिक मामले
24 नवंबर को चीन में 31,444 नए मामले दर्ज किए गए थे। वहीं दूसरे दिन 32,943 तो तीसरे दिन यानी शुक्रवार को 35,909 मामले सामने आए। चीन के वुहान शहर में 2019 में सामने आए संक्रमण के पहले मामले के बाद देश में सामने आए ये सबसे अधिक दैनिक मामले हैं। देश में संक्रमण के दैनिक मामले लगातार बढ़ रहे हैं। 

कई इलाकों में आवाजाही पर लगी रोक
अमेरिका और अन्य देशों की तुलना में चीन में संक्रमण से मौत के कम मामले सामने आए हैं, लेकिन फिर भी देश की सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी ने वायरस को लेकर कोई भी कोताही न बरतने की नीति अपना रखी है, जिसके तहत मामलों की संख्या देखते हुए इलाकों में लोगों की आवाजाही पर रोक लगाई जाती है।

चीन के चाओयांग में 35 लाख लोग घर में कैद
स्वास्थ्य अधिकारियों की अपील के बाद  35 लाख लोग घर में कैद हो गए हैं। लोगों को घर पर ही सारी सुविधाएं पहुंचाई जा रही हैं। कई जगह कैंप लगाकर जांच बढ़ा दी गई है। बीजिंग में इस सप्ताह एक प्रदर्शनी केंद्र में अस्थायी अस्पताल बनाया गया और बीजिंग इंटरनेशनल स्ट्डीज यूनिवर्सिटी में भी आवाजाही पर प्रतिबंध लगा दिया। 

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00