गरीब बच्चों को बनाना है डिजिटल इंडिया का हिस्सा

ब्यूरो/अमर उजाला, लखनऊ Updated Thu, 10 Mar 2016 11:54 AM IST
बच्चों को फ्री में कंप्यूटर सिखाती हैं परीवश
बच्चों को फ्री में कंप्यूटर स‌िखाती हैं परीवश - फोटो : Amar Ujala
ख़बर सुनें
एक दिन घर में काम करने वाली के बच्चों ने कम्प्यूटर की ओर इशारा करते हुए पूछा यह क्या है? यह कैसे चलता है? छोटे बच्चों की जिज्ञासा और स्कूल ना जाने पाने की उनकी विवशता ने परीवश फातिमा को अंदर तक झकझोर कर रख दिया। 
उन्होंने घर के कोने में पड़े कम्प्यूटर को निकाला और उन बच्चों को सिखाना शुरू कर दिया। बस यहीं से उन्होंने एक नेक काम शुरुआत करने की ठानी। आसपास के घरों और मोहल्ले के उन बच्चों को, जो कम्प्यूटर क्लास नहीं जा सकते, उनसे धीरे-धीरे संपर्क कर बुलाना शुरू कर दिया और बन गई सबकी कम्प्यूटरवाली दीदी। 

यह वही कंप्यूटरवाली दीदी है, जिसे एलयू में चांसलर सिल्वर मेडल मिला था। यह मेडल पढ़ाई के साथ-साथ सामाजिक कार्य में स्टूडेंट के योगदान के लिए दिया जाता है। 
परी कहती हैं कि धीरे-धीरे बच्चों की संख्या बढऩे लगी और तीन बैच चलने लगे। इन्फ्रास्ट्रक्चर के लिए पैसा चाहिए था, पॉकेट मनी से जो बन पड़ता कर लेती थी। इस काम में मेरी बहन ने आर्थिक मदद दी। परीवश प्रोफेसर बनना चाहती हैं, क्योंकि उनका मानना है कि खुद कुछ बनने के बाद ही मैं औरों के लिए कुछ कर पाऊंगी।

RELATED

Spotlight

Most Read

Shimla

देवांश ने पूरा किया दादा का सपना, यहां से करेगा एमबीबीएस

देवांश शर्मा एम्स में एमबीबीएस करेंगे। देवांश ने दादा के सपने को पूरा किया है।

21 जून 2018

Related Videos

घाटी में तैनात हुए आतंकियों के यमराज, देखिए कैसे होती है इनकी ट्रेनिंग

जम्मी कश्मीर में आतंकियों से निपटने के लिए अब एनएसजी कमांडो की तैनात कर दी गई है। आतंकियों के खिलाफ नए सिरे से ऑपरेशन को शुरू करने के लिए गृह मंत्रालय ने ये कदम उठाया गया है।

21 जून 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen