चीन बोला- नहीं चाहते भारत के साथ विवाद की एक और वजह बने मालदीव, बातचीत रखेंगे जारी

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला Updated Fri, 09 Feb 2018 04:32 PM IST
china doesn't want Maldives crisis become latest flashpoint with India
चीन ने शुक्रवार को कहा कि वह मालदीव के राजनीतिक संकट पर भारत से संपर्क में है और इसे भारत और चीन के बीच विवाद का कारण नहीं बनना चाहिए।
चीन के आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक, चीन ने उन रिपोर्ट की अवहेलना की है जिसमें मालदीव में भारतीय आर्मी के हस्तक्षेप की मांग की जा रही है। हालांकि इसके साथ ही बीजिंग इस संकट के शांतिपूर्ण समाधान के लिए भारत के साथ संपर्क में है।

बता दें कि दोकलम विवाद और आतंकी मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित करने जैसे मुद्दों पर भारत का चीन के साथ टकराव लगातार जारी है। ऐसे में चीन चाहता है कि मालदीव पर भारत के साथ विवाद का कारण न बने।

गौरतलब है कि पूर्व राष्ट्रपति नाशीद द्वारा भारत से लगातार मदद मांगने और भारतीय सेना के मूवमेंट की खबरों के बीच चीन बुरी तरह से बौखला गया है। उसने कहा है कि भारत को माले में किसी भी सूरत में हस्तक्षेप नहीं करना चाहिए। 

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने तो यहां तक कहा कि संबंधित पक्ष किसी तीसरे की मध्यस्थता के बजाय आपस में बातचीत और संपर्क कर मतभेदों को दूर करें।

चीन के सरकारी अखबार ‘ग्लोबल टाइम्स’ ने अपने प्रमुख संपादकीय में इस बाबत भारत को नसीहत देने की कोशिश की है। अखबार के हवाले से चीन ने कहा कि मालदीव के आंतरिक मसलों पर भारत को किसी भी सूरत में दखल नहीं देना चाहिए। 

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news, Crime all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

Spotlight

Most Read

China

भारत के साथ अधिक सौदेबाजी के लिए चीन के साथ संबंध गहरे करेगा नेपाल: ओली

नेपाल के नए प्रधानमंत्री केपी ओली ने कहा कि समय के साथ बदलाव को ध्यान में रखते हुए वे अधिक विकल्पों और भारत के साथ अधिक सौदेबाजी के लिए चीन के साथ संबंध गहरे करना चाहते हैं।

20 फरवरी 2018

Related Videos

बीफ खाना है, Kiss करना है तो करो, फेस्टिवल की क्या जरूरत: वेंकैया नायडू

अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के नाम पर विश्वविद्यालयों में हंगामा और विवाद करने वालों को उप राष्ट्रपति वैंकेया नायडू ने नसीहत दी है।

20 फरवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Switch to Amarujala.com App

Get Lightning Fast Experience

Click On Add to Home Screen