लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   World ›   China Taiwan Crisis: Eastern Theater Command will test anti submarine and air attack capability

China Taiwan Crisis : चीन की पूर्वी थिएटर कमांड ने कहा- पनडुब्बीरोधी और हवा से पोत पर हमले की क्षमता परखेंगे

न्यूयॉर्क टाइम्स न्यूज सर्विस, ताइपे/बीजिंग। Published by: योगेश साहू Updated Tue, 09 Aug 2022 12:46 AM IST
सार

China Taiwan Crisis : चीन का सोमवार को शुरू हुआ नया सैन्य अभ्यास कब तक चलेगा, इसकी सटीक जानकारी नहीं है। इधर, चीनी वायु सेना ने विमानों को तैनात किया है, जिनमें पूर्व चेतावनी विमान, बम वर्षक विमान, लड़ाकू विमान आदि शामिल हैं। इनमें से कई ने ताइवान जलडमरूमध्य के आसमान में चक्कर भी लगाए हैं।

China-Taiwan Conflict
China-Taiwan Conflict - फोटो : Agency
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

China Taiwan Crisis : ताइवान स्ट्रेट में चीन का चार दिनी सैन्य अभ्यास रविवार को खत्म होना था लेकिन यह सोमवार को भी जारी रहा। अड़ियल चीन ने सोमवार को ताइवान स्ट्रेट के समुद्र और हवाई क्षेत्र में नए सैन्याभ्यास की घोषणा की। चीनी सेना की पूर्वी थिएटर कमांड ने कहा कि वह ताइवान द्वीप के पास अपना अभ्यास जारी रखेगी और उसका जोर पनडुब्बी रोधी कार्रवाई तथा हवा से पोत पर हमला करने पर है।



पहले यह अभ्यास 4 से 7 अगस्त तक चलना था। अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की स्पीकर नैंसी पेलोसी द्वारा गत सप्ताह ताइपे की यात्रा के विरोध में अपने सबसे बड़े अभ्यास के निर्धारित अंतिम के एक दिन बाद चीन ने यह एलान किया है। चीन अपना नया अभ्यास कहां करेगा और यह कितने दिन चलेगा, अभी इसके बारे में सटीक जानकारी नहीं मिल सकी है।


हालांकि ताइवान ने पहले ही द्वीप के आसपास के छह चीनी अभ्यास क्षेत्रों के करीब उड़ान प्रतिबंधों में ढील दी है। चीनी अभ्यास ताइवान के आसपास के छह इलाकों में चल रहा है। सोमवार को भी सैन्य अभ्यास में बमवर्षक विमानों ने हिस्सा लिया और असल युद्ध जैसे हालात से निपटने की तैयारी की। ताइवान का आरोप है कि चीनी सेना ने द्वीप पर कब्जे की मंशा से अभ्यास किया।

बमवर्षक विमानों ने ताइवान स्ट्रेट में चक्कर लगाए
थिएटर कमान के तहत वायु सेना ने अलग अलग तरह के विमानों को तैनात किया जिनमें पूर्व चेतावनी विमान, बम वर्षक विमान, लड़ाकू विमान आदि शामिल हैं। वायु सैनिकों ने लंबी दूरी की कई रॉकेट प्रणालियों और पारंपरिक मिसाइल सैनिकों के साथ मिलकर लक्ष्यों पर संयुक्त रूप से सटीक हमलों का अभ्यास किया।

इनमें नौसेना और वायु युद्ध प्रणालियों से उन्हें मदद मुहैया कराई गई। कई बम वर्षक विमानों ने उत्तर से दक्षिण और दक्षिण से उत्तर की ओर ताइवान जलडमरूमध्य के आसमान में चक्कर लगाए जबकि कई लड़ाकू विमानों ने विध्वंसकों और युद्धपोत के साथ साझा अभ्यास किया।

पेलोसी के बाद साई से मिले राल्फ गोंजाल्विस
नए अभ्यास की घोषणा से कुछ समय पहले, ताइवान के राष्ट्रपति साई इंग-वेन ने सेंट विंसेंट और ग्रेनेडाइंस के प्रधानमंत्री राल्फ गोंजाल्विस से मुलाकात की। उन्हें बताया कि वह चीन के सैन्य दबाव के बावजूद यात्रा करने के उनके दृढ़ संकल्प से प्रभावित हुईं। गोंजाल्विस ने कहा, चीनी सैन्य अभ्यास हमें ताइवान में दोस्तों से मिलने से नहीं रोक सकेंगे। नैंसी पेलोसी के बाद छिड़े तनाव के बीच गोंजाल्विस दूसरे राजनयिक हैं जो ताइवान पहुंचे।

बौखलाया चीन बोला, अमेरिका को भुगतने होंगे गंभीर परिणाम
चीन के रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता वू कियान ने एक बार फिर बौखलाहट दिखाई है। वू ने कहा, ताइवान जलडमरूमध्य में मौजूदा तनावपूर्ण स्थिति पूरी तरह से अमेरिकी पक्ष द्वारा उकसाई और बनाई गई है। अमेरिकी पक्ष को इसके लिए पूरी जिम्मेदारी लेनी होगी और गंभीर परिणाम भुगतने होंगे।

ऑस्ट्रेलिया ने की तनाव कम करने की अपील
ऑस्ट्रेलिया की विदेश मंत्री पेनी वोंग ने ताइवान के आसपास जारी तनाव में कमी लाने की अपील की है। इससे पहले वोंस ने नैंसी पेलोसी की ताइवान यात्रा के परिणामस्वरूप चीन द्वारा शुरू किए गए अभ्यास की आलोचना की थी। चीनी दूतावास ने ऑस्ट्रेलिया पर अमेरिका की भाषा बोलने का आरोप लगाया। इस चीनी टिप्पणी पर वोंग ने कहा, इस समय तनाव कम करना सबसे महत्वपूर्ण है। इस मामले में शांति बहाल की जानी चाहिए।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00