ये एप बना अमेरिका के लिए बड़ा खतरा, सेना की खुफिया जानकारी हो रही लीक

एजेंसी, वाशिंगटन Updated Mon, 29 Jan 2018 06:26 PM IST
America threatened by fitness tracking app reveals army bases
एक फिटेनस ट्रैकिंग कंपनी ने विदेशी जमीं पर मौजूद अमेरिकी सैन्य बेस की लोकेशन और कर्मचारियों की संख्या जैसी खुफिया जानकारी लीक कर दी है। स्ट्रावा एप ने एक हीट डाटा मैप के जरिये यह खुलासा किया है।
 
इंस्टीट्यूट फॉर यूनाइटेड कांफ्लिक्ट एनालिस्ट के विशेषज्ञ नाथन रुजर के मुताबिक स्ट्रावा की ओर से तैयार किए गए ये मैप बेहद खूबसूरत दिखते हैं, लेकिन सुरक्षा के लिहाज से ये बेहद खतरनाक हैं। इससे विदेशों में मौजूद अमेरिकी बेस साफ पहचाने जा सकते हैं और उनका नक्शा तैयार किया जा सकता है। 

नवंबर, 2017 को जारी नक्शे में स्ट्रावा के यूजर की ओर से अपलोड की गई हर क्रिया देखी सकती है। इससे तीन ट्रिलियन व्यक्तिगत जीपीएस डाटा बिंदु तैयार हुए हैं।
 
एथलीट का ग्लोबल नेटवर्क
यह एप यूजर को व्यायाम, टहलने, दौड़ने जैसी गतिविधियों को रिकार्ड करने और उसे दूसरे यूजर के साथ ऑनलाइन साझा करने की सुविधा देता है। एथलीट के वैश्विक नेटवर्क के नाम से मशहूर यह एप स्मार्टफोन और फिबिट जैसी फिटनेस ट्रैकर पर चलाया जा सकता है। इससे यूजर शहर के लोकप्रिय दौड़ने के रास्तों और जगहों के बारे में जानते हैं, जहां उन्हें व्यायाम करने के लिए साथी मिल सकते हैं। 

सैनिकों के दौड़ने के रास्ते से बनता नक्शा
दरअसल इस एप को ज्यादातर अमेरिकी और ब्रिटिश नागरिक इस्तेमाल करते हैं। अगर विदेश में कहीं पर इस एप की मौजूदगी के संकेत मिलते हैं, तो साफ है कि वहां अमेरिकी नागरिक मौजूद हैं।

अगर सैनिक इस एप का इस्तेमाल सामान्य लोगों की तरह करते हैं और जब वे सैन्य ट्रेनिंग के दौरान एक्साइज के लिए जाते हैं, तो यह खतरनाक हो सकता है। उनके दौड़ने के रास्ते से बेस का ट्रैक देखा जा सकता है। इससे अमेरिकी बेस की जानकारी लीक हो जाती है। 

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news, Crime all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

Spotlight

Most Read

America

डोनाल्ड ट्रंप ने किया बंदूक रखने के नियमों में सुधार का समर्थन

किसी को बंदूक रखने की इजाजत देने से पहले उसकी पृष्ठभूमि की बेहतर ढंग से जांच करना जरूरी बनाने के प्रयासों का अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने 'समर्थन' किया है।

20 फरवरी 2018

Related Videos

इस प्यारी सी तस्वीर में वो हैं जिन्हें आप बहुत अच्छे से जानते हैं, देखिए

इंटरनेट पर एक फोटो खूब वायरल हो रही है। फोटो ऐसा, जिसके हर छोर से रोमांस टपक रहा है। इश्क की अगल ही कमिस्ट्री देखने को मिली है फोटो में। अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर उस फोटो में है क्या? तो खुद ही देख लीजिए।

21 फरवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Switch to Amarujala.com App

Get Lightning Fast Experience

Click On Add to Home Screen