विज्ञापन
विज्ञापन

कश्मीर विवाद को अफगानिस्तान के शांति प्रयासों से जोड़ना सही नहीं: अफगान राजनयिक

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला Updated Mon, 19 Aug 2019 06:47 AM IST
रोया रहमानी
रोया रहमानी - फोटो : Social media
ख़बर सुनें

खास बातें

  • पाकिस्तानी राजनयिक के बयान को असावधानी, जल्दबाजी और लापरवाही से भरा बताया
  • अफगानिस्तान की राजनयिक रोया रहमानी ने कश्मीर को द्विपक्षीय मसला बताया
  • रहमानी ने पाकिस्तानी धरती पर आतंकवाद को पनपने देने को लेकर भी खिंचाई
अफगानिस्तान के शांति के लिए उठाए गए कदमों या प्रयासों को कश्मीर विवाद के ताजा हालात से जोड़ना असावधानी, जल्दबाजी और लापरवाही से भरा है। यह बात अफगानिस्तान के वरिष्ठ राजनयिक ने यूएस में अपने पाकिस्तानी समकक्ष असद मजीद खान के उस बयान का जवाब देते हुए कही है, जिसमें उन्होंने कहा था कि कश्मीर के ताजा हालात का असर अफगानिस्तान में जारी शांति के प्रयासों पर पड़ सकता है।
विज्ञापन
अफगानिस्तान की राजनयिक रोया रहमानी ने रविवार को अपनी बात कहते हुए सवाल किया कि आखिर कश्मीर विवाद को लेकर उपजे ताजा हालात अफगानिस्तान में चल रही शांति वार्ता के प्रयासों को किस तरह प्रभावित कर सकते हैं। पाकिस्तानी राजनयिक का दिया गया यह बयान असावधानी और लापरवाही से भरा है।

रहमानी ने दृढ़तापूर्वक कहा कि कश्मीर मुद्दा भारत और पाकिस्तान के बीच का द्विपक्षीय मसला है। रहमानी ने कहा कि उनका देश मानता है कि कश्मीर मुद्दे को अफगानिस्तान के साथ जानबूझकर जोड़ने की पाकिस्तान की मंशा और जिद अफगान सरजमीं पर हो रही हिंसा को लंबा करने की एक सोची समझी कोशिश है।

उन्होंने कहा, यह पाकिस्तान द्वारा तालिबान के खिलाफ अपनी निष्क्रियता को सही ठहराने और आतंकवादी समूह के खिलाफ निर्णायक रुख अपनाने से बचने के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला एक खराब बहाना है।

रहमानी ने पाकिस्तानी राजदूत के हवाले से कहा कि कश्मीर मुद्दा पाकिस्तान को अफगानिस्तान की अपनी पश्चिमी सीमा से सेना हटाकर भारत की पूर्वी सीमा तैनात करने के लिए मजबूर कर सकता है, यह एक भ्रामक बयान है। जो अफगानिस्तान को पाकिस्तान के लिए खतरा पैदा करने वाले के तौर पर गलत तरीके से पेश करता है।

पाकिस्तान को अफगानिस्तान की ओर से कोई खतरा नहीं है। अफगान सरकार पश्चिमी सीमा पर पाकिस्तान के हजारों सैन्य सैनिकों को तैनात रखने के पीछे कोई विश्वसनीय कारण नहीं देखती है। इसके विपरीत, अफगानिस्तान में कायम स्थिरता को अक्सर पाकिस्तान में मौजूद, स्वीकृत और समर्थित आतंकवादी और आतंकवादी समूहों द्वारा धमकी दी जाती रही है।

उन्होंने कहा कि ये आतंकी समूह पाकिस्तान शासित स्थानों से खुले तौर पर काम करते हैं और नियमित रूप से अफगानिस्तान में दहशत फैलाने का प्रयास करते हैं। उन्होंने कहा कि पाकिस्तानी अधिकारियों को पाकिस्तान के अंदर पुलिस कार्रवाई के माध्यम से एक ईमानदार और मजबूत कानून और व्यवस्था के जरिए इस समस्या का समाधान करना चाहिए।

रहमानी ने कहा कि उनके पाकिस्तानी समकक्ष का यह बयान हाल ही में अफगान यात्रा पर आए प्रधानमंत्री इमरान खान और पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा के साथ हुई अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी की सकारात्मक और रचनात्मक वार्ता के विपरीत है।
विज्ञापन

Recommended

अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का अधिकार ही है कॉमकॉन 2019 की चर्चा का प्रमुख विषय
Invertis university

अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का अधिकार ही है कॉमकॉन 2019 की चर्चा का प्रमुख विषय

सर्वपितृ अमावस्या को गया में अर्पित करें अपने समस्त पितरों को तर्पण, होंगे सभी पूर्वज प्रसन्न, 28 सितम्बर
Astrology Services

सर्वपितृ अमावस्या को गया में अर्पित करें अपने समस्त पितरों को तर्पण, होंगे सभी पूर्वज प्रसन्न, 28 सितम्बर

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

World

Howdy Modi: क्यों खास है NRG स्टेडियम जहां मोदी और ट्रंप एक ही मंच पर होंगे साथ

ह्यूस्टन के एनआरजी स्टेडियम में हाउडी मोदी कार्यक्रम आयोजित होने वाला है। यहीं पीएम मोदी और राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप एक साथ मंच पर दिखाई देंगे। लेकिन इस स्टेडियम की क्या खासियत है। देखिए

22 सितंबर 2019

विज्ञापन

Howdy Modi: क्यों खास है NRG स्टेडियम जहां मोदी और ट्रंप एक ही मंच पर होंगे साथ

ह्यूस्टन के एनआरजी स्टेडियम में हाउडी मोदी कार्यक्रम आयोजित होने वाला है। यहीं पीएम मोदी और राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप एक साथ मंच पर दिखाई देंगे। लेकिन इस स्टेडियम की क्या खासियत है। देखिए

22 सितंबर 2019

Related

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree