विज्ञापन

कोतवाली की जमीन पर बना लिए मकान, फसल बोई

farrukhabad Updated Sat, 08 Jul 2017 12:51 AM IST
कोतवाली की जमीन पर अवैध कब्जों का एक नजारा।
कोतवाली की जमीन पर अवैध कब्जों का एक नजारा। - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें
मोहम्मदाबाद। कोतवाली मोहम्मदाबाद के नाम पांच एकड़ जमीन रोहिला गांव में नवाबगंज-मोहम्मदाबाद रोड किनारे आरक्षित है। इस पर दबंगों ने कब्जा कर रखा है। कब्जा करने वालों में सरकारी महकमे वाले भी शामिल हैं। बुधवार को स्थलीय जांच पड़ताल के बाद कब्जेदारों को तीन दिन का अल्टीमेटम दिया गया है। इसके बाद बुलडोजर चलाकर कब्जे ढहाए जाएंगे।
विज्ञापन
जनवरी 2016 में तत्कालीन जिलाधिकारी एनकेएस चौहान ने विभागीय अधिकारियों को लेकर कोतवाली के लिए आरक्षित भूमि का चिह्नांकन कराया था। इसके बाद रोड किनारे कोतवाली की भूमि होने का बोर्ड भी लगवा दिया था। इसके बावजूद दबंगों ने इस पर कब्जा कर मकान बना लिए हैं, तो कुछ ने कब्जा कर मक्का की फसल बो रखी है। शुक्रवार को एसडीएम सदर रमेश चंद्र, सीओ शरदचंद्र शर्मा, कोतवाल संजीव सिंह राठौर और सहायक चकबंदी अधिकारी मेढ़ीलाल वर्मा, राजस्व निरीक्षक चकबंदी रामवीर, लेखपाल चकबंदी राकेश कुमार के साथ मौके पर पहुंचे और कई घंटे तक पड़ताल की।

एसडीएम सदर ने बताया कि खसरा खतौनी के आधार पर पांच एकड़ बंजर भूमि चकबंदी के दौरान थाने के नाम आरक्षित की गई थी। इस पर कुछ लोगों ने मकान बना लिए हैं। उन्हें तीन दिन के अंदर कब्जे हटाने की चेतावनी दी गई है। ऐसा न करने पर जेसीबी चलाकर मकान ध्वस्त करा दिए जाएंगे। कब्जेदारों में मथुरा में तैनात एक दरोगा, सीआरपीएफ में कार्यरत एक जवान भी शामिल हैं। वहीं कई ग्रामीणों ने 10 बीघा जमीन पर मक्का बो दी है। मामले में दो कब्जेदार युवकों को पकड़कर पुलिस थाने ले आई। दोनों का मोबाइल नंबर लेने व चेतावनी देने के बाद छोड़ दिया।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Related Videos

अफगानिस्तान के खिलाफ धोनी ने संभाली टीम की कमान, देखिए वजह

अफगानिस्तान के खिलाफ एशिया कप में एक बार फिर महेंद्र सिंह धोनी ने टीम की कमान संभाली। देखिए क्या है इसके पीछे की वजह

25 सितंबर 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree