रोम का अजूबा-कोलोजियम

अमर उजाला

Sat, 14 November 2020

Image Credit : Istock

रोम के कोलोजियम का नाम दुनिया के सात अजूबों में शामिल है

Image Credit : Istock

This browser does not support the video element.

यह रोमन आर्किटेक्चर और इंजीनियरिंग का उत्कृष्ट नमूना माना जाता है

Video Credit : Pexels

इसका निर्माण सम्राट वेस्पियन ने 70-72 ईसवीं में शुरू करवाया था, जिसे उनके बाद सम्राट टाइटस ने 80 ईसवीं में पूरा किया

Image Credit : Istock

इसका नाम सम्राट वेस्पियन और टाइटस के पारिवारिक नाम फ्लेवियस के कारण एम्फीथिएटर फ्लावियम रखा गया

Image Credit : Istock

This browser does not support the video element.

कोलोजियम में योद्धा अपनी युद्धकला का प्रदर्शन करते थे

Video Credit : Pexels

युद्ध कौशल के अलावा यहां समय-समय पर जंगली जानवरों की प्रदर्शनी भी लगाई जाती थी

Image Credit : Istock

कोलोजियम में एक-साथ 50 हजार लोग बैठकर युद्ध का आनंद ले सकते थे

Image Credit : Istock

This browser does not support the video element.

भूकंप और पत्थर-लुटेरों के कारण कोलोजियम का काफी हिस्सा बर्बाद हो गया

Video Credit : Pexels

मध्य युग तक कोलोजियम का उपयोग एक किले के रूप में किया जाता था

Image Credit : Istock

16वीं और 17वीं शताब्दी में इस स्थान को ईसाई धर्म का पवित्र स्थल माना जाने लगा

Image Credit : Istock

इसकी बाहरी दीवार के ऊपरी हिस्से पर रोमन देवता 'ईरोस' को समर्पित एक संग्रहालय भी बनाया गया है

Image Credit : Istock

1980 में इसे यूनेस्को द्वारा विश्व धरोहर स्थलों की सूची में शामिल किया गया

Image Credit : Istock

लाइफ़स्टाइल की अन्य ख़बरों के लिए क्लिक करें

Image Credit : Pexels.com
Read More