ये दिलकश झरने नहीं देखे तो क्या देखा

अमर उजाला

Sun, 31 July 2022

Image Credit : Social Media

गेवरनाथ

कोटा के रावटभाटा रोड पर करीब 20 किमी दूर गेपरनाथ प्राकृतिक पर्यटन स्थल है. करीब 100 फीट की ऊंचाई से यहां झरना गिरता है.
 
Image Credit : Social Media

भंवरकुंज वाटरफॉल

कोटा के सबसे निकट प्रसिद्ध भंवरकुंज वाटरफॉल है. पठारी इलाके का पानी यहां से चंबल में गिरता है.
Image Credit : Social Media

पाडाझर वाटरफॉल

कोटा से करीब 60 किमी दूर रावतभाटा के समीप यह मनमोहक झरना है. जंगलों के बीच शांत वातावरण में झरने की कलकल बड़ी मधुर लगती है.
Image Credit : Social Media

कुंडाखोह

कुंडाखोह बारां कोटा से करीब 100 किमी दूर है. इस झरने को देखने के लिए दूर-दूर से पर्यटक आते हैं
 
Image Credit : Social Media

रामेश्वरम महादेव 

बूंदी कोटा से करीब 50 किमी दूर रामेश्वरम महादेव वाटरफॉल है. बारिश के दिनों में यहां झरने को देखने हजारों की तदाद में सैलानी आते हैं.
 
Image Credit : Social Media

मानसून में देखिए रानेह फॉल की खूबसूरती

सोशल मीडिया
Read Now