बनारसी साड़ी जो महिलाओं पर खूब सजे

अमर उजाला

Tue, 21 July 2020

Image Credit : Designer Ayush Kejriwal-Instagram

जरी के डिजाइन मिलाकर बुनने से तैयार होने वाली सुंदर रेशमी साड़ी को बनारसी साड़ी कहते हैं

Image Credit : Designer Ayush Kejriwal-Instagram

त्योहार हो या शादी ब्याह, बनारसी साड़ियों का क्रेज कभी कम नहीं होता

Image Credit : kompalmattakapoor

This browser does not support the video element.

मौसम कोई भी हो मगर बनारसी साड़ी की डिमांड हमेशा रहती है

Video Credit : shrutimangaaysh-Instagram

चंदौली, बनारस, जौनपुर, आजमगढ़, मिर्जापुर और संत रविदासनगर में बनारसी साड़ियां बनाई जाती हैं

Image Credit : Designer Ayush Kejriwal-Instagram

This browser does not support the video element.

यहां साड़ी बनाने का ये पारंपरिक काम सदियों से चला आ रहा है और विश्वप्रसिद्ध है

Video Credit : shrutimangaaysh-Instagram

बनारसी साड़ी मुगलकाल के दौरान अस्तित्व में आई इसीलिए इसके डिजाइन मुगल-प्रेरित है

Image Credit : Designer Ayush Kejriwal-Instagram

परम्परागत मोटिफ जो बनारसी साड़ी की पहचान बनाए हुए हैं, जैसे बूटी, बूटा, कोनिया, बेल, जाल और जंगला, झालर आदि

Image Credit : Designer Ayush Kejriwal-Instagram

बनारसी साड़ी पर बने डिजाइन पारंपरिक होते हैं और इसके पल्लू में छह से आठ इंच लंबा प्लेन सिल्क फैब्रिक होता है

Image Credit : _.aditi._03-Instagram

 एक बनारसी साड़ी को बनाने में 15 दिन से एक महीने तक का समय लग सकता है

Image Credit : Designer Ayush Kejriwal Instagram

एक बनारसी साड़ी में 5600 के आसपास धागों के तार होते हैं जो 45 इंच तक चौड़े होते हैं

Image Credit : suryadevacollections

बनारसी सिल्क साड़ी को दूसरे कपड़ों के साथ रखने की गलती कभी न करें

Image Credit : nritya_mallika-Instagram

बनारसी सिल्क साड़ी को साफ करते वक्त कभी भी ब्रश का इस्तेमाल न करें

Image Credit : mohinifashionaccessories

फैशन की अन्य खबरों के लिए क्लिक करें

Image Credit : Pexels.com
Read More