शांत वादियों में बढ़ रहे बलात्कार के मामले

Uttar Kashi Updated Mon, 20 Jan 2014 05:47 AM IST
उत्तरकाशी। मैदानों की अपेक्षा शांत माने जाने वाले सीमांत जनपद उत्तरकाशी में बलात्कार के बढ़ते जा रहे हैं। बीते एक साल में ही जिले में बलात्कार के छह मामले प्रकाश में सामने आए हैं।
जिले से 20 मार्च 2013 को लापता हुई एक नाबालिग 25 मार्च को देहरादून से बरामद हुई। उसे बहला फुसला कर भगा ले जाने वाले बिजनौर उत्तरप्रदेश के युवक को पुलिस ने गिरफ्तार किया था। लड़की के बयान और मेडिकल में बलात्कार की पुष्टि हुई। हाईस्कूल की एक छात्रा के साथ 30 जून को सिरी गांव के एक युवक की ओर से बलात्कार का मामला सामने आया। 19 जुलाई को नौगांव प्रखंड के एक गांव की 13 वर्षीय किशोरी जब घराट पर गेहूं पिसवाने गई तो खेतों में काम कर रहे एक युवक ने उसे अपनी हवस का शिकार बना लिया। 20 अक्तूबर को नौगांव प्रखंड के एक गांव से लापता युवती बीस दिन बाद बरामद हुई। उसे डेल्डा गांव का एक युवक स्वयं को स्वर्ण और शिक्षक का बेटा बताकर उसे बहला फुसला कर भगा ले गया था। युवक के विरुद्ध बलात्कार का मामला दर्ज हुआ। 10 दिसंबर को एक शादी समारोह में गई 12 वर्षीय किशोरी के साथ एक युवक ने बलात्कार किया। डीएम के हस्तक्षेप पर एक हफ्ते बाद मामला दर्ज हुआ। अभी न्यायालय में विचाराधीन इन सभी मामलों में न्याय होगा, लेकिन इस शांत जिले में बलात्कार के बढ़ते मामले चिंता का विषय हैं।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

योगी कैबिनेट ने लिए 10 बड़े फैसले, गांवों में मांस बेचने पर लगी रोक

यूपी की योगी सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए गांवों में मांस की बिक्री पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया है।

24 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls