यमुनोत्री के कपाट हुए शीतकाल के लिए बंद

Uttar Kashi Updated Fri, 16 Nov 2012 12:00 PM IST
बड़कोट। भैयादूज के पावन पर्व पर विधि विधान और धार्मिक अनुष्ठान के साथ यमुनोत्री मंदिर के कपाट बृहस्पतिवार को दोपहर 1:15 बजे शीतकाल के लिए बंद कर दिए गए। इससे पूर्व यमुनाजी के चचेरे भाई शानि देव (समेश्वर देवता) की डोली उन्हें लेने यमुनोत्री धाम पहुंची। 1:30 से राहु लग्न प्रारंभ होने से एक बजे पारंपरिक यमुनाजी की आरती हुई और डेढ़ बजे से पहले धार्मिक अनुष्ठान निपटाने के साथ ही भंडारे का भी आयोजन किया गया। इस मौके पर स्थानीय ग्रामीणों के साथ-साथ तीर्थयात्रियों की भीड़ उमड़ी रही।
स्थानीय वाद्य यंत्रों के साथ यमुना जी की उत्सव डोली यात्रा के साथ समेश्वर देवता की भी डोली यमुनोत्री से 2:15 बजे शीतकालीन प्रवास अपने मायके खरसाली के लिए रवाना हुई। खरसाली में भी यमुना जी के मंदिर की भव्य ढंग से सजाया गया है। जहां पर उनका भव्य स्वागत एवं विशेष पूजा अर्चना कर शाम चार बजे को मंदिर में स्थापित किया गया। इस मौके पर यमुनोत्री मंदिर समिति के अध्यक्ष एसडीएम परमानंदराम, सचिव खिलानंद उनियाल, उपाध्यक्ष रमण प्रसाद, मनमोहन उनियाल, पंडा समिति अध्यक्ष सूर्य प्रकाश, यमुनोत्री के पूर्व विधायक केदार रावत, एसओ प्रदीप राणा आदि मौजूद थे।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

योगी कैबिनेट ने लिए 10 बड़े फैसले, गांवों में मांस बेचने पर लगी रोक

यूपी की योगी सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए गांवों में मांस की बिक्री पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया है।

24 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls