ठंड और बदहाल सड़कों ने रोके कदम

Uttar Kashi Updated Tue, 23 Oct 2012 12:00 PM IST
उत्तरकाशी। अतिवृष्टि की आफत से सहमा यात्रा सीजन अब ठंड और बदहाल सड़कों की भेंट चढ़ चुका है। बीते सालों में पितृपक्ष एवं दुर्गा पूजा के मौके पर रोजाना यमुनोत्री- गंगोत्री की ओर हजारों मारवाड़ी तथा बंगाली श्रद्धालु पहुंचते थे। वहीं इस बार यह संख्या सिमट कर एक सौ के आसपास अटक कर रह गई है।
सितंबर शुरुआत में बारिश थमने तथा सुहावने मौसम के बावजूद अगस्त में आपदा की भेंट चढ़ी तीर्थयात्रा रफ्तार नहीं पकड़ पाई। यमुनोत्री राजमार्ग पर दो माह तक यात्रा पर ब्रेक लगा रहा। जबकि भाटुकासौड़, औंगी, विशनपुर, मल्ला, भटवाड़ी, थिरांग, स्वारीगाड व सुक्की में भागीरथी की ओर सरकते गंगोत्री राजमार्ग के हिस्सों को देखकर तीर्थयात्रियों ने यहां लंबे समय तक यात्रा का जोखिम नहीं उठाया। पिछले 27 दिनों की यात्रा पर नजर दौड़ाएं तो इस दौरान गंगोत्री में 8,710 तथा यमुनोत्री 11,184 तीर्थयात्री ही पहुंचे। बीते साल 22 अक्तूबर तक गंगोत्री में 4,77,363 तथा यमुनोत्री में 4,66,911 तीर्थयात्री पहुंचे थे। इस साल यह संख्या क्रमश: 4,32,949 तथा 4,36,575 तक ही सीमित रह गई है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

योगी कैबिनेट ने लिए 10 बड़े फैसले, गांवों में मांस बेचने पर लगी रोक

यूपी की योगी सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए गांवों में मांस की बिक्री पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया है।

24 जनवरी 2018