असी गंगा घाटी में पटरी पर लौटा जीवन

Uttar Kashi Updated Mon, 08 Oct 2012 12:00 PM IST
उत्तरकाशी। असी गंगा की बाढ़ से घर-गांव में कैद होकर रहे केलसू भंकोली क्षेत्र के सातों गांवों में जनजीवन अब पटरी पर लौटने लगा है। संगमचट्टी के समीप तक यातायात, गांव के रास्तों के साथ ही बिजली पानी की बहाली से लोग राहत की सांस ले रहे हैं। बाढ़ तथा अतिवृष्टि में बहे रास्ते समय पर नहीं बनने तथा ज्यादा अवधि की बारिश से आलू की आधा फसल सड़ चुकी थी। अब रास्ते बनने पर करीब 200 ट्रक लोड आलू मंडियों तक पहुंचने से प्रभावितों के जख्म भरने की स्थिति बन पाई है।
अगस्त में असी गंगा की बाढ़ में सड़क, पैदल रास्ते, मोटर पुल और पुलियाओं के बहने से इस घाटी के अगोड़ा, गजोली, भंकोली, सेकू सहित सात गांव अलग-थलग पड़ गए थे। डेढ़ माह तक ग्रामीणों को जान जोखिम में डालकर जंगलों के रास्ते सड़क तक पहुंचने के लिए 22 किमी तक पैदल दूरी नापनी पड़ी। इन हालात में आलू की फसल मंडियों तक पहुंचाने की व्यवस्था नहीं बन पाने से लोगों ने आलू का खुदान ही नहीं किया। अगली फसल के लिए जिन किसानों ने आलू खोद कर छानियों और घरों में इकठ्ठा किए, वह सड़ गए।
अब डिगिला तोक में अस्थायी पुल के रास्ते असी गंगा पार कर संगमचट्टी से आधा किमी पीछे तक वाहनों की आवाजाही शुरू हो चुकी है। गांवों के संपर्क मार्गों की हालत में भी कुछ सुधार होने पर ग्रामीणों ने आलू का खुदान कर बची हुई फसल मंडियों तक पहुंचने पर राहत की सांस ली है। क्षेत्र में बिजली, पानी की सुविधा भी बहाल हो गई है।


भुखमरी से बच गए ग्रामीण
उत्तरकाशी। अगोड़ा के मान सिंह, सुरेश पंवार, पूर्व प्रधान विजेंद्र सिंह, जिला पंचायत सदस्य कमल सिंह रावत कहते हैं कि असी गंगा पर अस्थायी पुलिया, सड़क तथा पैदल मार्ग बनने से क्षेत्र भुखमरी की स्थिति से बच गया है। दो सौ ट्रक लोड आलू बाजार पहुंचने और पैसा गांव आने से लोग कुछ समय के लिए आपदा की पीड़ा भूलकर अगली फसल की तैयारी में जुट गए हैं।

Spotlight

Most Read

Jharkhand

चारा घोटाला: चाईबासा कोषागार मामले में कोर्ट ने सुनाया फैसला, तीसरे केस में लालू दोषी करार

रांची स्थित विशेष सीबीआई अदालत ने चारा घोटाले के तीसरे मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को दोषी करार दिया है। साथ ही पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा को भी दोषी ठहराया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

योगी कैबिनेट ने लिए 10 बड़े फैसले, गांवों में मांस बेचने पर लगी रोक

यूपी की योगी सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए गांवों में मांस की बिक्री पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया है।

24 जनवरी 2018