विज्ञापन
विज्ञापन

भूस्खलन के डर से कर गए पलायन

Uttar Kashi Updated Fri, 03 Aug 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
उत्तरकाशी। गंगा के नाम पर हो रही राजनीति के भेंट चढ़ी लोहारीनाग-पाला परियोजना के अधर में छोड़े गए निर्माण अब बरसात में कुज्जन गांव पर आफत बनकर बरस रहे हैं। यहां विस्फोटकों से दरकी पहाड़ियाें पर अब भूस्खलन शुरू हो गया है। ऐसे में कुज्जन गांव के दोनों ओर भूस्खलन होने पर 50 परिवार गांव से पलायन कर गोशालाओं में शरण लेने को मजबूर हैं। गांव जाने वाली सड़क भी भूस्खलन में बर्बाद हो चुकी है। कुज्जन गांव से संगलाई हाईस्कूल में पढ़ने वाले बच्चों के लिए परिजनों को उसी गांव में रहकर पढ़ाई का इंतजाम करना पड़ रहा है।
विज्ञापन
विज्ञापन
गंगोत्री राजमार्ग से चार किमी दूर कुज्जन गांव के लोग भूस्खलन की तबाही से भयभीत हैं। स्थिति यह है कि यहां रह रहे 80 परिवारों में से 50 से ज्यादा परिवार बच्चों सहित गांव से एक किमी दूर अपनी बनाई गोशालाओं में रह रहे हैं। बिजली न होने से सोलर लालटेन की रोशनी में गुजारा कर रहे हैं। गांव की सड़क अवरुद्ध होने के साथ ही तमाम संपर्क मार्ग खस्ताहाल हैं। कुज्जन गांव के कुछ बच्चे भूस्खलन के खतरों के बीच चार किमी बंद पड़ी सड़क से होकर संगलाई हाईस्कूल जाते हैं लेकिन इस खतरे को देखते हुए कई परिवारों को बच्चों के रहने की व्यवस्था संगलाई गांव में ही करनी पड़ रही है। ग्रामीण अब बरसात के बाद कुछ स्थिति संभलने पर ही गांव लौट पाएंगे।

इंसेट
परियोजना के अधूरे काय छोड़ने से बना खतरा
उत्तरकाशी। लोहारीनाग-पाला परियोजना के थिरांग में बन रहे भूमिगत विद्युतगृह और इसके ऊपरी हिस्से में सर्जशाफ्ट तथा एप्रोच रोड निर्माण में विस्फोटकों के प्रयोग से यह पूरा क्षेत्र संवेदनशील हो गया था। वर्ष 2010 में परियोजना बंद होने के बाद से सारे निर्माण अधर में छोड़ने तथा सुरक्षा के कोई इंतजाम न होने से गांव पर खतरा बढ़ता जा रहा है।

अब तो एनटीपीसी भी नहीं
उत्तरकाशी। कुज्जन के प्रधान रघुवीर सिंह कहते हैं कि परियोजना निर्माण से कमजोर हुई उनके गांव के आसपास की पहाड़ियां अब बरसात में दरकने लगी हैं। सड़क ही नहीं पैदल रास्ते भी भूस्खलन से तहस-नहस हो गए हैं। परियोजना निर्माण के दौरान तो एनटीपीसी के सहयोग की उम्मीद रहती थी, लेकिन अब वह भी जाती रही।

अधिकारी लेंगे स्थिति का जायजा
उत्तरकाशी। डीएम डा.आर.राजेश कुमार ने कहा कि भूस्खलन से प्रभावित कुज्जन गांव की स्थिति का जायजा लेने भटवाड़ी तहसील से अधिकारियों को भेजा जाएगा। यदि जरूरी हुआ तो इस गांव को पुनर्वास की श्रेणी में शामिल कर भूवैज्ञानिकों से सर्वे कराया जाएगा।

Recommended

Uttarakhand Board 2019 के परीक्षा परिणाम जल्द होंगे घोषित, देखने के लिए क्लिक करें
Uttarakhand Board

Uttarakhand Board 2019 के परीक्षा परिणाम जल्द होंगे घोषित, देखने के लिए क्लिक करें

जीवन की सभी विघ्न-बाधाओं को दूर करने वाली गणपति की विशेष पूजा
ज्योतिष समाधान

जीवन की सभी विघ्न-बाधाओं को दूर करने वाली गणपति की विशेष पूजा

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

लोकसभा चुनाव 2019 (lok sabha chunav 2019) के नतीजों में किसने मारी बाजी? फिर एक बार मोदी सरकार या कांग्रेस की चुनावी नैया हुई पार? सपा-बसपा ने किया यूपी में सूपड़ा साफ या भाजपा का दम रहा बरकरार? सिर्फ नतीजे नहीं, नतीजों के पीछे की पूरी तस्वीर, वजह और विश्लेषण। 23 मई को सबसे सटीक नतीजों  (lok sabha chunav result 2019) के लिए आपको आना है सिर्फ एक जगह- amarujala.com  Hindi news वेबसाइट पर.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Uttarkashi

मजदूरों ने रुकवाया ऑल वेदर रोड का काम

मजदूरों ने रुकवाया ऑल वेदर रोड का काम

20 मई 2019

विज्ञापन

मायावती का बड़ा एक्शन, रामवीर उपाध्याय को पार्टी से निकाला बाहर साथ ही देशभर की 5 बड़ी खबरें

अमर उजाला डॉट कॉम पर देश-दुनिया की राजनीति, खेल, क्राइम, सिनेमा, फैशन और धर्म से जुड़ी खबरें।

21 मई 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election