विज्ञापन
विज्ञापन

हल्की बारिश से सहम गए किसान

अमर उजाला ब्यूरो  Updated Wed, 17 Apr 2019 12:07 AM IST
रुद्रपुर में खड़ी गेहूं की फसल। 
रुद्रपुर में खड़ी गेहूं की फसल।  - फोटो : अमर उजाला
ख़बर सुनें
गेहूं की कटाई के बीच मंगलवार को अचानक हल्की बारिश से किसानों के माथे पर बल पड़ गए। रुद्रपुर में शाम करीब पांच बजे तक रुक-रुक कर बूंदाबांदी जारी रही। मौसम वैज्ञानिकों ने दो दिन और बारिश की संभावना व्यक्त की है। इस स्थिति में प्रमुख कृषि उत्पादक जिले यूएस नगर में गेहूं के संभावित उत्पादन 44 लाख, 62 हजार क्विंटल में से करीब 10-15 प्रतिशत गिरावट आ सकती है। 
विज्ञापन
विज्ञापन
जिले में इस वर्ष करीब 97 हजार हेक्टेयर कृषि भूमि पर में गेहूं की फसल बोई गई है। रुद्रपुर के शिमला पिस्तौर, भूरारानी, मलसा, मलसी, फौजी मटकोटी, गंगापुर, प्रतापपुर, भगवानपुर, बागजाला आदि गांवों में गेहूं का काफी उत्पादन होता है। मौसम वैज्ञानिक डॉ. आरके सिंह कहते हैं कि जिले में बुधवार और बृहस्पतिवार को भी हल्की बारिश और बूंदाबांदी की संभावना है। यदि लगातार बारिश हुई तो रबी की सभी फसलों गेहूं, जौ, चना आदि को भी नुकसान पहुंचेगा। डॉ. सिंह ने बताया कि मंगलवार को तराई में करीब दो एमएम बारिश हुई। 

मुख्य कृषि अधिकारी डॉ. अभय सक्सेना और खाद्य विभाग के उप संभागीय विपणन अधिकारी वेदप्रकाश धूलिया ने बताया कि जिन स्थानों पर गेहूं की फसल पूरी तरह पक चुकी है, वहां गेहूं के बीजों के गिरने का खतरा है। यदि लगातार बारिश होती है तो गेहूं की बालियों के काले पड़ने के साथ ही बालियों में अंकुर आने का खतरा हो सकता है। साथ ही भीगने के बाद सूखने पर बीज का वजन भी कम हो सकता है। 

बारिश होते ही सितारगंज में घट गए गेहूं के दाम 
सितारगंज/खटीमा/काशीपुर। क्षेत्र के बिज्टी पटिया गांव निवासी पवनप्रीत सिंह ने बताया कि तेज हवाओं से खेत में लगी फसल गिर गई है। इससे काफी नुकसान हुआ है। वहीं, किसान गुरसाहब सिंह ने बताया कि बारिश तो इतनी नहीं हुई लेकिन तेज हवाओं से फसल काफी प्रभावित हुई है। फसल गिरने से अब उसे सूखने में समय लगेगा, जिससे फसल के वाजिब दाम नहीं मिल पाएंगे।

किसानों ने बताया कि धीमी बारिश के बाद से ही राइस मिलर्स ने 100 रुपये प्रति क्विंटल दाम घटा दिए हैं। बताया कि राइस मिलर्स गेहूं में नमी की बात कहकर अब गेहूं 1700 रुपये प्रति क्विंटल ले रहे हैं, जिससे किसानों को दोहरी मार झेलनी पड़ रही है। वहीं, खटीमा में भी बूंदाबांदी के बाद किसानों के चेहरे उतर गए हैं। यहां करीब 35 फीसदी किसान अपनी फसल समेट चुके हैं लेकिन बाकी फसल अभी भी खेतों में ही है। मंगलवार को प्रतापपपुर, जंगल जोगीठेर, बिरिया, मझोला, छिनकी, अलाविरदी, पोलीगंज, मझोला, बंडिया, अशोक फार्म, प्रभात फार्म, पंत फार्म, तिवारी फार्म, तलवार फार्म, भगचुरी फार्म, दमगड़ा, चांदा, बंजारी आदि क्षेत्रों के किसान दिनभर अपनी फसल समेटते नजर आए। 

उधर, काशीपुर में भी बादल छाते ही किसान गेहूं की कटी फसल संभालने में जुटे रहे। बूंदाबांदी के बीच माथे पर बल लिए किसान फसल समेटने में लगे रहे। इधर, चैती मेला में लोगों की भीड़ कम ही रही। बुक्सा समाज बाजपुर की ब्लॉक प्रमुख किशोरी देवी ने पति जीत सिंह के साथ देवी की पूजा-अर्चना की। इसके बाद बुक्साओं ने मोटेश्वर महादेव मंदिर में पूजा-अर्चना की। वहां सूरज सिंह, रामलाल, मीना, राजो देवी, राम सिंह, पिंकी, लक्ष्मी आदि थे। 

तराई में हल्की बारिश से पारा 9.6 डिग्री लुढ़का
रुद्रपुर। जिले में मंगलवार को अचानक हुई बूंदाबांदी से मौसम सुहावना हो गया। जिले के अधिकतम तापमान में 9.6 डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज की गई। तराई में पिछले करीब तीन दिन भीषण गर्मी झेल रहे लोगों को मंगलवार को गर्मी से थोड़ी राहत मिली। सुबह करीब नौ बजे अचानक मौसम ने करवट बदलनी शुरू की।

अंधड़ के साथ धूल के गुबार उड़ने के बाद बूंदाबांदी शुरू हो गई। बारिश के चलते जिले का अधिकतम 29.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जबकि सोमवार को जिले का अधिकतम तापमान 39.1 डिग्री सेेल्सियस पहुंच गया था। मौसम वैज्ञानिक डॉ. आरके सिंह ने बताया कि जिले में आने वाले दो दिनों में हल्की बारिश और पर्वतीय जिलों में मध्यम बारिश हो सकती है। 
 

Recommended

Uttarakhand Board 2019 के परीक्षा परिणाम जल्द होंगे घोषित, देखने के लिए क्लिक करें
Uttarakhand Board

Uttarakhand Board 2019 के परीक्षा परिणाम जल्द होंगे घोषित, देखने के लिए क्लिक करें

शनि जयंती के अवसर पर शनि शिंगणापुर में शनि को प्रसन्न करने के लिए तेल अभिषेकम्
ज्योतिष समाधान

शनि जयंती के अवसर पर शनि शिंगणापुर में शनि को प्रसन्न करने के लिए तेल अभिषेकम्

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

लोकसभा चुनाव 2019 (lok sabha chunav 2019) के नतीजों में किसने मारी बाजी? फिर एक बार मोदी सरकार या कांग्रेस की चुनावी नैया हुई पार? सपा-बसपा ने किया यूपी में सूपड़ा साफ या भाजपा का दम रहा बरकरार? सिर्फ नतीजे नहीं, नतीजों के पीछे की पूरी तस्वीर, वजह और विश्लेषण। 23 मई को सबसे सटीक नतीजों  (lok sabha chunav result 2019) के लिए आपको आना है सिर्फ एक जगह- amarujala.com  Hindi news वेबसाइट पर.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Udham Singh Nagar

गमगीन माहौल में हुई नरेश और आरती की अंत्येष्टि  

मृतका के भाई की तहरीर पर पुलिस ने दर्ज किया हत्या का मुकदमा 

19 मई 2019

विज्ञापन

आज का पंचांग : 20 मई 2019, सोमवार

सोमवार को लग रहा है कौन सा नक्षत्र और बन रहा है कौन सा योग? दिन के किस पहर करें शुभ काम? जानिए यहां और देखिए पंचांग सोमवार 20 मई 2019.

20 मई 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election