लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttarakhand ›   Udham Singh Nagar ›   Captain Devesh of Khatima got gallantry award for his indomitable courage

अदम्य साहस के लिए खटीमा के कैप्टन देवेश को मिला शौर्य पुरस्कार

Haldwani Bureau हल्द्वानी ब्यूरो
Updated Wed, 17 Aug 2022 12:46 AM IST
कैप्टन देवेश जोशी। संवाद
कैप्टन देवेश जोशी। संवाद - फोटो : KHATIMA
विज्ञापन
ख़बर सुनें
खटीमा। झारखंड के देवधर में रोप-वे के दुर्घटनाग्रस्त होने से ट्रॉली में फंसे पर्यटकों को अपने साहस एवं दृढ़ संकल्प से बचाने वाले भारतीय सेना के कैप्टन देवेश जोशी को स्वतंत्रता दिवस पर राष्ट्रपति ने शौर्य पुरस्कार देकर सम्मानित किया। कैप्टन देवेश जोशी वर्तमान में खटीमा में निवास करते हैं।

मूलरूप से जिला पिथौरागढ़ के गणाई गंगोली निवासी कैप्टन देवेश के पिता गिरीश जोशी राजकीय शिक्षक एवं माता गृहिणी है। कैप्टन देवेश ने ऑपरेशन त्रिकुट के दौरान झारखंड के देवधर में रोप-वे में फंसे 21 पर्यटकों की जान बचाई थी। वहीं 17 विभिन्न खराब रोप-वे पर आकाश में झूल रही खराब ट्रॉलियों से लोगों को बचाया। कैप्टन देवेश ने टीम का नेतृत्व करते हुए सेना की ओर से चलाए गए अभियान त्रिकुट में क्रालिंग करते हुए ट्रालियों तक पहुंचे।

इनके अदम्य साहस, परिश्रम, दृढ़ संकल्प के लिए राष्ट्रपति ने स्वतंत्रता दिवस पर उन्हें शौर्य पुरस्कार से सम्मानित किया। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कैप्टन देवेश को उनके अदम्य साहस के लिए मिले शौर्य पुरस्कार पर फोन पर बधाई दी है। संवाद

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00