मैम दो माह से खा रहे हैं दाल चावल

Udham singh nagar Updated Sat, 25 Jan 2014 05:53 AM IST
सितारगंज। मैडम दो माह से सिर्फ दाल चावल खा रहे हैं। स्कूल में सब्जी बनती ही नहीं है। न तो हमे छात्रवृत्ति मिलती है। ये सब एएसडीएम ऋचा सिंह के आकस्मिक छापेमारी के दौरान स्कूलों में सामने आया। यहां तक कि एक स्कूल के मास्साब बच्चों के स्वास्थ्य परीक्षण का रिकार्ड भी नहीं दिखा सके। बच्चों की उपस्थिति भी कम पाई गई। एएसडीएम ने बताया कि निरीक्षण की रिपोर्ट जिलाधिकारी डा. पंकज पांडेय को भेजी जाएगी।
शुक्रवार की सुबह अपर उपजिलाधिकारी ऋचा सिंह ने पांच स्कूलों में औचक छापेमारी की। इससे स्कूल प्रबंधन में हड़कंप मच गया। राजकीय प्राथमिक स्कूल कौंधाबाग में दिसंबर से सब्जी नहीं बन रही है। पंजीकृत 23 में 10 विद्यार्थी ही उपस्थित मिले। बच्चों के स्वास्थ्य परीक्षण का भी कोई रिकार्ड नहीं था। राजकीय प्राथमिक विद्यालय बिज्टी में भी मध्याह्न भोजन की गुणवत्ता खराब मिली। पंजीकृत 49 में 26 छात्र-छात्राएं उपस्थित पाए। राजकीय प्राथमिक स्कूल करघटा पंजीकृत 42 में से 12 बच्चे ही उपस्थित थे। इसके अलावा राजकीय उच्च प्राथमिक स्कूल करघटा में 71 में से 35 एवं राजकीय प्राथमिक स्कूल पिंडारी में पंजीकृत 50 में से 21 बच्चे ही पढ़ाई करते मिले। पांचों स्कूलों में अल्पसंख्यक और अनुसूचित जाति के बच्चों की पिछले तीन सालों से छात्रवृत्ति नहीं मिल रही है। एएसडीएम ऋचा ने बताया कि आकस्मिक निरीक्षण की रिपोर्ट जिलाधिकारी पांडे को भेजी जाएगी।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू यादव को तीसरे केस में 5 साल की सजा, कोर्ट ने 10 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

अमित शाह के इस बयान पर उत्तराखंड कांग्रेस हुई हमलावर

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह द्वारा राहुल गांधी पर की गई टिप्पणी के बाद उत्तराखंड कांग्रेस आग-बबूला हो गई है।

21 सितंबर 2017