दस हजार की मांगी थी फिरौती

Udham singh nagar Updated Mon, 20 Jan 2014 05:53 AM IST
रुद्रपुर। अपहरणकर्ता ने दो दिन पहले उड़ीसा से फोन कर दस हजार रुपए की फिरौती मांगी थी। पुलिस आशंका जता रही है कि अपहरण के एक दो दिन में ही आरोपी ने देव की हत्या कर दी होगी। इसके बाद आरोपी उड़ीसा फरार हो गया। पुलिस सर्विलांस के जरिए आरोपी तक पहुंचती इससे पहले देव की लाश मिल गई।
आठ जनवरी की शाम शिमला बहादुर निवासी ट्रक चालक मोहन पाल का छह वर्षीय बेटा देव घर के बाहर खेल रहा था। इसी बीच वह लापता हो गया। परिजनों ने सूचना पुलिस को दी। उन्होंने पुलिस को बताया कि किच्छा के ग्राम दरऊ निवासी विजय पाल घर पर आया था। देव की मां मीरा से कुछ रुपए मांगे लेकिन उसने इंकार कर दिया। इसके बाद वह बच्चों के बारे में पूछने लगा। परिजन आशंका जता रहे थे कि विजय पाल ही बच्चे को उठा ले गया होगा। पुलिस ने विजय की तलाश में जिले के साथ ही आगरा और उड़ीसा मेें भी दबिश दी, लेकिन सफलता नहीं मिली। इधर पुलिस सूत्रों के मुताबिक दो दिन पहले विजय पाल का फोन देव के परिजनों के पास आया था। उसने देव की सलामती के लिए दस हजार रुपए मांगे थे।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू यादव को तीसरे केस में 5 साल की सजा, कोर्ट ने 10 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

अमित शाह के इस बयान पर उत्तराखंड कांग्रेस हुई हमलावर

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह द्वारा राहुल गांधी पर की गई टिप्पणी के बाद उत्तराखंड कांग्रेस आग-बबूला हो गई है।

21 सितंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls