नई तकनीकों से बदल रहा मानव जीवन

Udham singh nagar Updated Sun, 09 Dec 2012 05:30 AM IST
पंतनगर। इरगो-2012, सबको सुरक्षा विषय पर आयोजित तीन दिनी संगोष्ठी में कई संस्तुतियां की गईं। वैज्ञानिकों ने कहा मनुष्य के जीवन स्तर में बदलाव के साथ ही कार्य करने के ढंग में निरंतर परिवर्तन आ रहा है। यह बदलाव विभिन्न क्षेत्रों में नई तकनीकों एवं मशीनों से संभव हो रहा है।
पंत विवि के गृह विज्ञान महाविद्यालय में आयोजित तीन दिन संगोष्ठी का शनिवार को समापन हुआ। इस दौरान वैज्ञानिकों ने जनसाधारण के लिए तकनीकें सृजित करने पर जोर दिया। उन्होंने कहा आम आदमी को उनका महत्व एवं उपयोग समझाया जाए। तकनीकें जनसाधारण के काम नहीं आईं तो आम जन इन्हें नकार देगा, इसलिए वैज्ञानिकों को जनमानस की शारीरिक संरचना एवं आवश्यकता को ध्यान में रखकर मशीनों का विकास करना चाहिए। कृषि कार्यों से लेकर सैन्य सेवाओं तक ऐसे यंत्र तैयार किए जाएं, जो मानव हितैषी हों। यंत्रों के संचालन में श्रम शक्ति का कम से कम उपयोग होना चाहिए। इरगोनोमिक्स यानि श्रम प्रयुक्ति विज्ञान के क्षेत्र में नए आविष्कार होना चाहिए। संगोष्ठी के समापन सत्र में तीर्थांकर चटर्जी को युवा वैज्ञानिक पुरस्कार दिया गया।
संगोष्ठी में नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ अकोपेशनल हेल्थ के निदेशक डा.पी नाग, पंतनगर की कार्यवाहक कुलपति डा.रीता सिंह रघुवंशी, आईएसई के अध्यक्ष डा.जीजी रे, सचिव डा.डी मजूमदार, विभागाध्यक्ष डा.दीपा विनय आदि ने विचार रखे।

Spotlight

Most Read

Lucknow

21 साल का साहिल बना पीजीआई थाने का एसओ, टोपी न पहने सिपाहियों की लगाई क्लास

राजधानी के पीजीआई थाने का नजारा शुक्रवार को दो घंटे के लिए बदल गया। शिकायत लिए आए लोग सामने बैठे 21 साल के एसओ को देखकर कुछ देर के लिए ठिठक गए।

19 जनवरी 2018

Related Videos

अमित शाह के इस बयान पर उत्तराखंड कांग्रेस हुई हमलावर

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह द्वारा राहुल गांधी पर की गई टिप्पणी के बाद उत्तराखंड कांग्रेस आग-बबूला हो गई है।

21 सितंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper